Jump to content

Blogs

Featured Entries

तीर्थराज सम्मेद शिखर के महामंत्री बने हजारीबाग के राजकुमार जैन

तीर्थराज सम्मेद शिखर के महामंत्री बने हजारीबाग के राजकुमार जैन

आदरणीय श्री राजकुमार जैन अजमेरा जी, हजारीबाग को शास्वत तीर्थराज के महामंत्री पद पर मनोनीत होने पर बहुत बहुत बधाई एवम अशेष शुभकामनाएं। आदरणीय अजमेरा जी अत्यंत ऊर्जावान, कर्मठ, समर्पित व्यक्तित्व हैं। पूर्व में भी अनेक पदों पर सुशोभित होकर धर्म प्रभावना और धर्मायतन सेवा में हमेशा अग्रणी रहे हैं।

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - उत्तर प्रदेश

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - उत्तर प्रदेश

क्र. सं. तीर्थ क्षेत्र का नाम  Name of the Teerth क्षेत्र  1 अहिच्छत्र पार्श्वनाथ  Ahikhetra Parshvanath अतिशय क्षेत्र  2 अयोध्या Ayodhya कल्याणक क्षेत्र  3 बड़ागाँव Badagaon अतिशय क्षेत्र  4 बड़ागाँव त्रिलोकतीर्थ Badagaon Trilok Tirth अतिशय क्षेत्र  5

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - तमिलनाडु

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - तमिलनाडु

क्र.स. तीर्थक्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 मेलचित्तामूर Melchitamur अतिशय क्षेत्र 2 पोन्नूरमले Ponnurmalle अतिशय क्षेत्र 3 तिरूमलै Tirumalle अतिशय क्षेत्र  

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - राजस्थान

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - राजस्थान

क्र.स. तीर्थक्षेत्र का नाम  Name of the Tirth क्षेत्र 1 अडिन्दा Adinda अतिशय क्षेत्र 2 अन्देश्वर पार्श्वनाथ Andeshwar Parshvanath अतिशय क्षेत्र 3 अरथूना नसियाँजी Arthuna Nasiyaji अतिशय क्षेत्र 4 बिजौलियां पार्श्वनाथ Bijoliya parshvanath अतिशय क्षेत्र 5

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - महाराष्ट्र

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - महाराष्ट्र

क्र.स. तीर्थ क्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 आसेगांव Aasegaon अतिशय क्षेत्र 2 आष्टा (कासार) Aashta (Kasar) अतिशय क्षेत्र 3 अन्तरिक्ष पार्श्वनाथ Antariksha Parshvanath अतिशय क्षेत्र 4 भातकुली जैन Bhatkuli Jain अतिशय क्षेत्र 5 दहीगाँव

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - मध्य प्रदेश

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - मध्य प्रदेश

क्र. सं. तीर्थक्षेत्र का नाम  Name of the Teerth क्षेत्र  1 आहूजी Aahuji अतिशय क्षेत्र  2 अहारजी Aharji सिद्ध क्षेत्र  3 अजयगढ़ Ajaygarh अतिशय क्षेत्र  4 अमरकंटक Amarkantak अतिशय क्षेत्र  5 बाड़ी Badi अतिशय क्षेत्र 

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - कर्नाटक

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - कर्नाटक

कर्नाटक क्र.स. तीर्थ क्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 बीजापुर Bijapur अतिशय क्षेत्र 2 धर्मस्थल Dharmasthal कला क्षेत्र 3 हरसूर Harsur अतिशय क्षेत्र 4 हॅमचा Humcha अतिशय क्षेत्र 5 हुणसे हडगली Hunse Hadgali

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - हरियाणा

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - हरियाणा

क्र.स. तीर्थ क्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 हाँसी (पुण्योदय तीर्थ) Hansi अतिशय क्षेत्र 2 कासनगांव Kasangaon अतिशय क्षेत्र 3 रानीला (आदिनाथपुरम्) Ranila अतिशय क्षेत्र 4 रोहतक Rohtak अतिशय क्षेत्र

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - गुजरात

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - गुजरात

क्र.स. तीर्थ क्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 भिलोड़ा Bhiloda अतिशय क्षेत्र 2 चैतन्यधाम Chetanyadham साधना तीर्थ 3 देरोल-वाघेला Derol-Vaghela अतिशय क्षेत्र 4 घोघा Ghogha अतिशय क्षेत्र 5 गिरनारजी Girnarji सिद्

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - बिहार

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - बिहार

क्र.स. तीर्थ क्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 आरा Arrah अतिशय क्षेत्र 2 बासोकुण्ड (वैशाली) Basokund (Vaishali) कल्याणक क्षेत्र 3 चम्पापुर Champapur सिद्ध क्षेत्र 4 गुणावाँजी Gunawaji सिद्ध क्षेत्र 5 कमलदहजी Kamaldahji

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थ निर्देशिका

दिगम्बर जैन तीर्थ निर्देशिका

आंध्रप्रदेश क्र. सं. तीर्थ क्षेत्र का नाम  Name of the Teerth क्षेत्र  1 कुलचारम् Kulcharam अतिशय क्षेत्र असम 2 सूर्यपहाड़ Suryapahad अतिशय क्षेत्र बिहार 3 आरा Arrah अतिशय क्षेत्र 4 बासोकुण्ड (वैशाली) Basokund (Vaishali) कल्याणक क्षेत्र

admin

admin

 

माननीय पद्मश्री डा.आर .के .जैन उत्तराखंड अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष बने

माननीय पद्मश्री डा.आर .के .जैन उत्तराखंड अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष बने। भारत का पहला राज्य जिसमे प्रथम बार किसी जैन को अल्प संख्यक आयोग का अध्यक्ष बनने का सौभाग्य मिला। माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार एवं मुख्यमंत्री उत्तराखंड सरकार को सम्पूर्ण जैन समाज की ओर से आभार एवम धन्यवाद।

admin

admin

 

कल २३ नवंबर, दिन शुक्रवार, कार्तिक शुक्ल पूर्णिमा शुभ तिथि को तृतीय *तीर्थंकर देवादिदेव श्री १००८ संभवनाथ भगवान* का *जन्म कल्याणक* पर्व है तथा *श्री अष्टान्हिका पर्व का अंतिम दिन* है-

☀  *कल जन्म कल्याणक पर्व है*  ☀ जय जिनेन्द्र बंधुओं,      कल २३ नवंबर, दिन शुक्रवार, कार्तिक शुक्ल पूर्णिमा शुभ तिथि को तृतीय  *तीर्थंकर देवादिदेव श्री १००८ संभवनाथ भगवान* का *जन्म कल्याणक* पर्व है तथा *श्री अष्टान्हिका पर्व का अंतिम दिन* है- 🙏🏻 कल अत्यंत भक्तिभाव से *देवादिदेव श्री १००८ संभवनाथ भगवान* की पूजन कर जन्म कल्याणक पर्व मनाएँ।     🙏🏻 *संभवनाथ भगवान की जय*🙏🏻 🙏🏻 *जन्म  कल्याणक पर्व की जय*🙏🏻 👏🏻   *श्रमण संस्कृति सेवासंघ, मुम्बई*  👏🏻

Abhishek Jain

Abhishek Jain

 

The Scientific Basis of vegetarianism

The human body is protected continuously by millions of "fighter cells". Central Controls" can order out billions of new "fighters" when disease invades the body during times of "peace", the numbers are reduced & the "fighters" become "Patrol Units". This operation is known as the Body's immune system. Scientists probing secrets of the immune system are finding that healthful diet, physical fitness & a positive emotional state of mind stimulate & strengthen the body's immune system,

Dr Kalyan Gangwal

Dr Kalyan Gangwal

 

?कल २३ अक्टूबर, दिन मंगलवार को अश्विन शुक्ल चतुर्दशी तिथि अर्थात चतुर्दशी पर्व है।

?          *कल चतुर्दशी पर्व है*         ? जय जिनेन्द्र बंधुओं,         कल  २३ अक्टूबर, दिन मंगलवार को अश्विन शुक्ल चतुर्दशी तिथि अर्थात *चतुर्दशी पर्व* है। ?? प्रतिदिन जिनेन्द्र प्रभु के दर्शन करना अपना मनुष्य जीवन मिलना सार्थक करना है अतः प्रतिदिन देवदर्शन करना चाहिए। जो लोग प्रतिदिन देवदर्शन नहीं कर पाते उनको कम से कम अष्टमी/चतुर्दशी आदि पर्व के दिनों में देवदर्शन अवश्य करना चाहिए। ?? जो लोग प्रतिदिन देवदर्शन करते हैं उनको अष्टमी/चतुर्दशी आदि पर्व के दिनों में श्

Abhishek Jain

Abhishek Jain

 

☀कल १७ अक्टूबर, दिन बुधवार, अश्विन शुक्ल अष्टमी को मोक्ष कल्याणक पर्व तथा अष्टमी पर्व है।

? *कल अष्टमी व् मोक्षकल्याणक पर्व*? जय जिनेन्द्र बंधुओं,         कल १७ अक्टूबर, दिन बुधवार, अश्विन शुक्ल अष्टमी की शुभ तिथि को *१० वें तीर्थंकर देवादिदेव श्री १००८ शीतलनाथ भगवान* का *मोक्ष कल्याणक पर्व* तथा *अष्टमी पर्व* है। ?? कल अत्यंत भक्ति-भाव से देवादिदेव श्री १००८ शीतलनाथ भगवान की पूजन करें तथा अपने भी कल्याण की भावना से भगवान के श्री चरणों में निर्वाण लाडू समर्पित करें। ?? प्रतिदिन जिनेन्द्र प्रभु के दर्शन करना अपना मनुष्य जीवन मिलना सार्थक करना है अतः प्रति

Abhishek Jain

Abhishek Jain

×
×
  • Create New...