Jump to content

Blogs

Featured Entries

 

दसलक्षण पर्व को दसलक्षण पर्व ही बोलें

दसलक्षण पर्व को दसलक्षण पर्व ही बोलें* आज मैं आप सभी का ध्यान एक बात की ओर आकर्षित करना चाहता हूं।        हम सब लोग हमारे *दसलक्षण पर्व* को *पर्युषण* बोलते हैं, और *पर्यूषण* के नाम से ही जानते हैं। इतना ही नहीं हमारे *दिगंबर जैन समाज के अधिकांश लोग इसे पर्यूषण ही कहते हैं,* जबकि वास्तविकता यह है कि *पर्यूषण श्वेतांबर परम्परा में कहा जाता है, जो 8 दिन के होते हैं। जबकि दिगम्बर परम्परा में दसलक्षण पर्व 10 दिन के होते हैं।* और खास बात यह होती है, कि *जिस दिन हमारे दसलक्षण पर्व प्रारम्भ होते
 

दिमाग लगाओ 🙇‍♀ तीर्थस्थान के नाम बताओ*🙏👍🙏👍

*दिमाग लगाओ 🙇‍♀ तीर्थस्थान के नाम बताओ*🙏👍🙏👍  🔓1)🌙🌕 🔑1)  🔓2) ✋⛰ 🔑2)  🔓3) 💎🌕 🔑3)  🔓4) 🦁⛰ 🔑4)  🔓5) 🐘❌पुर 🔑5)  🔓6) 👣⛰ 🔑6) 🔓7) 🍞🌕 🔑7)  🔓8) 👂🔔⭕ 🔑8)  🔓9) 8⃣👣 🔑9) 🔓10) 🍞⛰ 🔑10)  🔓11) 👏🏼 ⛳🗻 🔑11)  🔓12)🌙🚶🏽 🔑12)  🔓13) 🌺😬⛰ 🔑13)  🔓14) 👀⛰ 🔑14)  🔓15) 🍌sh⛰ 🔑15) 🔓16)Taa🎨 🔑16)  🔓17) o 🌊 यां 🔑17) 🔓18) 🐚🙏 🔑18)  🔓19) 👑🏠 🔑19)  🔓20) 🐍🙏 🔑20)  🔓21) 🥇⛰ 🔑21)  🔓22) 💪सा❌ 🔑22) 🔓23)🤵🏻👂🏼aa 🔑23)  🔓24) 🎼⛰ 🔑24)
 

जिन प्रतिमाओं के मंजन करने की विधि

*प्रतिमाओं का मंजन*        *विधि एवं आवश्यक सावधानियां*     _*कुछ ही दिनों में हमारे दसलक्षण पर्व प्रारंभ हो जाएंगे, और उसके पूर्व मंदिर जी में प्रतिमाओं का मंजन प्रारंभ हो जाएगा।*_       प्रतिमाओं के मंजन के संबंध में लोगों को भ्रांति रहती है,  अतः मार्गदर्शन स्वरूप यह पोस्ट दी जा रही है। *मंजन पूर्व की तैयारी-* 1- *खजूर की छोटी-छोटी डंडी लेकर उसका सिरा पत्थर से कूटकर उसे ब्रश जैसा बना लेना चाहिए, जिससे प्रतिमा पर जमे हुए दागों को साफ किया जा सके।* *2- लोंग का चूरा ब
JAIN PATHSHALA COLOUR BOOK SET

JAIN PATHSHALA COLOUR BOOK SET

प्रथमोदय भाग 1-2,  अरुणोदय भाग 1-2,  ज्ञानोदय भाग 1-4 कुल आठ भागों का सैट मात्र 200/- में  नर्सरी से लेकर 8 वी तक के बच्चों के लिए मल्टीकलर आर्ट पेपर पर चित्रों से सहित  जो बच्चे पाठशाला नहीं जा पाते.  उनके लिए पर्वराज  पर्युषण में उपहार स्वरुप भेंट कर सकते हैं.  आज ही आर्डर करें. धर्मोदय विद्यापीठ सागर (मध्यप्रदेश) 7582986222 , +91 94249 51771
तीर्थराज सम्मेद शिखर के महामंत्री बने हजारीबाग के राजकुमार जैन

तीर्थराज सम्मेद शिखर के महामंत्री बने हजारीबाग के राजकुमार जैन

आदरणीय श्री राजकुमार जैन अजमेरा जी, हजारीबाग को शास्वत तीर्थराज के महामंत्री पद पर मनोनीत होने पर बहुत बहुत बधाई एवम अशेष शुभकामनाएं। आदरणीय अजमेरा जी अत्यंत ऊर्जावान, कर्मठ, समर्पित व्यक्तित्व हैं। पूर्व में भी अनेक पदों पर सुशोभित होकर धर्म प्रभावना और धर्मायतन सेवा में हमेशा अग्रणी रहे हैं।

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - उत्तर प्रदेश

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - उत्तर प्रदेश

क्र. सं. तीर्थ क्षेत्र का नाम  Name of the Teerth क्षेत्र  1 अहिच्छत्र पार्श्वनाथ  Ahikhetra Parshvanath अतिशय क्षेत्र  2 अयोध्या Ayodhya कल्याणक क्षेत्र  3 बड़ागाँव Badagaon अतिशय क्षेत्र  4 बड़ागाँव त्रिलोकतीर्थ Badagaon Trilok Tirth अतिशय क्षेत्र  5

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - तमिलनाडु

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - तमिलनाडु

क्र.स. तीर्थक्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 मेलचित्तामूर Melchitamur अतिशय क्षेत्र 2 पोन्नूरमले Ponnurmalle अतिशय क्षेत्र 3 तिरूमलै Tirumalle अतिशय क्षेत्र  

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - राजस्थान

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - राजस्थान

क्र.स. तीर्थक्षेत्र का नाम  Name of the Tirth क्षेत्र 1 अडिन्दा Adinda अतिशय क्षेत्र 2 अन्देश्वर पार्श्वनाथ Andeshwar Parshvanath अतिशय क्षेत्र 3 अरथूना नसियाँजी Arthuna Nasiyaji अतिशय क्षेत्र 4 बिजौलियां पार्श्वनाथ Bijoliya parshvanath अतिशय क्षेत्र 5

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - महाराष्ट्र

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - महाराष्ट्र

क्र.स. तीर्थ क्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 आसेगांव Aasegaon अतिशय क्षेत्र 2 आष्टा (कासार) Aashta (Kasar) अतिशय क्षेत्र 3 अन्तरिक्ष पार्श्वनाथ Antariksha Parshvanath अतिशय क्षेत्र 4 भातकुली जैन Bhatkuli Jain अतिशय क्षेत्र 5 दहीगाँव

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - मध्य प्रदेश

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - मध्य प्रदेश

क्र. सं. तीर्थक्षेत्र का नाम  Name of the Teerth क्षेत्र  1 आहूजी Aahuji अतिशय क्षेत्र  2 अहारजी Aharji सिद्ध क्षेत्र  3 अजयगढ़ Ajaygarh अतिशय क्षेत्र  4 अमरकंटक Amarkantak अतिशय क्षेत्र  5 बाड़ी Badi अतिशय क्षेत्र 

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - कर्नाटक

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - कर्नाटक

कर्नाटक क्र.स. तीर्थ क्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 बीजापुर Bijapur अतिशय क्षेत्र 2 धर्मस्थल Dharmasthal कला क्षेत्र 3 हरसूर Harsur अतिशय क्षेत्र 4 हॅमचा Humcha अतिशय क्षेत्र 5 हुणसे हडगली Hunse Hadgali

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - हरियाणा

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - हरियाणा

क्र.स. तीर्थ क्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 हाँसी (पुण्योदय तीर्थ) Hansi अतिशय क्षेत्र 2 कासनगांव Kasangaon अतिशय क्षेत्र 3 रानीला (आदिनाथपुरम्) Ranila अतिशय क्षेत्र 4 रोहतक Rohtak अतिशय क्षेत्र

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - गुजरात

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - गुजरात

क्र.स. तीर्थ क्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 भिलोड़ा Bhiloda अतिशय क्षेत्र 2 चैतन्यधाम Chetanyadham साधना तीर्थ 3 देरोल-वाघेला Derol-Vaghela अतिशय क्षेत्र 4 घोघा Ghogha अतिशय क्षेत्र 5 गिरनारजी Girnarji सिद्

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - बिहार

दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र - बिहार

क्र.स. तीर्थ क्षेत्र का नाम Name of the Tirth क्षेत्र 1 आरा Arrah अतिशय क्षेत्र 2 बासोकुण्ड (वैशाली) Basokund (Vaishali) कल्याणक क्षेत्र 3 चम्पापुर Champapur सिद्ध क्षेत्र 4 गुणावाँजी Gunawaji सिद्ध क्षेत्र 5 कमलदहजी Kamaldahji

admin

admin

दिगम्बर जैन तीर्थ निर्देशिका

दिगम्बर जैन तीर्थ निर्देशिका

आंध्रप्रदेश क्र. सं. तीर्थ क्षेत्र का नाम  Name of the Teerth क्षेत्र  1 कुलचारम् Kulcharam अतिशय क्षेत्र असम 2 सूर्यपहाड़ Suryapahad अतिशय क्षेत्र बिहार 3 आरा Arrah अतिशय क्षेत्र 4 बासोकुण्ड (वैशाली) Basokund (Vaishali) कल्याणक क्षेत्र

admin

admin

 

माननीय पद्मश्री डा.आर .के .जैन उत्तराखंड अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष बने

माननीय पद्मश्री डा.आर .के .जैन उत्तराखंड अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष बने। भारत का पहला राज्य जिसमे प्रथम बार किसी जैन को अल्प संख्यक आयोग का अध्यक्ष बनने का सौभाग्य मिला। माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार एवं मुख्यमंत्री उत्तराखंड सरकार को सम्पूर्ण जैन समाज की ओर से आभार एवम धन्यवाद।

admin

admin

 

कल २३ नवंबर, दिन शुक्रवार, कार्तिक शुक्ल पूर्णिमा शुभ तिथि को तृतीय *तीर्थंकर देवादिदेव श्री १००८ संभवनाथ भगवान* का *जन्म कल्याणक* पर्व है तथा *श्री अष्टान्हिका पर्व का अंतिम दिन* है-

☀  *कल जन्म कल्याणक पर्व है*  ☀ जय जिनेन्द्र बंधुओं,      कल २३ नवंबर, दिन शुक्रवार, कार्तिक शुक्ल पूर्णिमा शुभ तिथि को तृतीय  *तीर्थंकर देवादिदेव श्री १००८ संभवनाथ भगवान* का *जन्म कल्याणक* पर्व है तथा *श्री अष्टान्हिका पर्व का अंतिम दिन* है- 🙏🏻 कल अत्यंत भक्तिभाव से *देवादिदेव श्री १००८ संभवनाथ भगवान* की पूजन कर जन्म कल्याणक पर्व मनाएँ।     🙏🏻 *संभवनाथ भगवान की जय*🙏🏻 🙏🏻 *जन्म  कल्याणक पर्व की जय*🙏🏻 👏🏻   *श्रमण संस्कृति सेवासंघ, मुम्बई*  👏🏻

Abhishek Jain

Abhishek Jain

×
×
  • Create New...