Jump to content
JainSamaj.World

admin

Administrators
  • Content Count

    2,269
  • Joined

  • Last visited

  • Days Won

    156

admin last won the day on September 25

admin had the most liked content!

Community Reputation

436 Excellent

About admin

  • Rank
    Advanced Member

Recent Profile Visitors

The recent visitors block is disabled and is not being shown to other users.

  1. Approve next day hota hien warna sab answer dekh lenge -sab ek jaisa answer likh denge
  2. केवलज्ञान जिन्होंने पाया, भरत क्षेत्र में प्रथम कहाया। प्रथम प्रभु का नाम बताओ, केवलज्ञानी तुम बन जाओ॥
  3. भद्रबाहु स्वामि श्रुतधारी, शीश झुकाए जनता सारी । देह कहाँ पर त्यागी गुरुवर, कौन बताए सुख का सरवर ॥
  4. झूठी है संसार की माया, युद्ध क्षेत्र में समझ है आया । गज पर ही कचलोंच है कीना,राजा कौन सा कहो नवीना ॥
  5. पूज्यपाद मुनि ने है लिक्खा, इष्टोपदेश शुभ नाम है रक्खा । कुल श्लोक है कितने इसमें, सही बताओ ज्ञात हो क्षण में ॥
  6. जिसने जितना पाप कमाया, उसने उतना दुख ही पाया । पटलों की संख्या बतलाओ,अलग-अलग सब में गिनवाओ ॥
  7. देव मनुज तिर्यञ्च नारकी, सम्यक् दृष्टि मात्र पारखी । गुणस्थान हैं किसमें कितने, जिनवाणी को धारो चित में ॥
  8. आप अगले दिन पुनः उस पहेली का लिंक खोले आप को स्वयं पता चल जाएगा सही उत्तर
  9. जीवन को उन्नत है बनाता, नरक पतन से हमें बचाता । अष्ट मूलगुण कौन से धारे, कहे जिनागम हमें सहारे ॥
  10. MahAveer swami ji mata

  11. धन्य धन्य है प्रभु की माता, इन्द्र भी जिनको शीश नवाता । सोलह स्वप्न कौन से भाई, देखे हैं तीर्थंकर माई ॥ 17 September paheli https://jainsamaj.vidyasagar.guru/forums/topic/636-आज-17-सितम्बर-की-पहेली/
  12. मल मूत्रों का बना पिटारा, दुर्जन जैसा तन का सहारा । भावना कौन सी है कहलाती, है वैराग्य भाव उपजाती ॥
  13. सुन्दर रूप मनोहर काया, श्वेत वर्ण है जिनने पाया । तीर्थंकर को शीश झुकाओ, फिर उनका है नाम बताओ ॥ आज रात्रि 10 बजे तक उत्तर दे सकते हैं दिए गए सभी उत्तर दस बजे तक किसी को नहीं दिखेंगे
  14. सात भूमि में कहीं न साता, दुख ही दुख मिलता है भ्राता । अष्टम्भूमि का नाम बताओ, प्राप्त करो तो सुख पा जाओ ॥ आपके उत्तर 24 घंटे तक किसी को भी नहीं दिखेंगे
  15. बार-बार मरकर भी जनमता, लाख चौरासी योनि भटकता । इनको पृथक् पृथक् गिनवाओ,सिद्ध बनो फिर लौट न आओ ॥ आपके उत्तर 24 घंटे तक किसी को नहीं दिखेंगे
×
×
  • Create New...