Jump to content
फॉलो करें Whatsapp चैनल : बैल आईकॉन भी दबाएँ ×
JainSamaj.World

आज की जैन धर्म पहेली 5 नवंबर 22


Recommended Posts

णमोकार है सबसे प्यारा, सब मंत्रों में सबसे न्यारा ।

भाषा और छन्द बतलाओ, रचा किन्होंने नाम बताओ ॥

Modern Blue 3d We Are Hiring Digital Marketing Instagram Post.png

 

  • इस वेबसाईट पर लॉगिन कर आप अपना उत्तर कमेन्ट में दे सकते हीं 
  • आज सभी उत्तर  के छिपे रहेंगे
  • उत्तर कल दिखेंगे 
  • Like 3
Link to comment
Share on other sites

णमोकार मन्त्र को प्राकृत भाषा एवं आर्या छंद में लिखा गया है।  णमोकार मन्त्र  की रचना किसी ने भी नहीं की, यह अनादिनिधन मन्त्र है, अर्थात् यह अनादिकाल से है और अनन्तकाल तक रहेगा। 

 

  • Like 2
Link to comment
Share on other sites

णमोकार मंत्र प्राकृत भाषा आर्या छंद में लिखा गया है

यह अनादि निधन मंत्र है आचार्य पुष्पदंत और भूत बली ने प्रथम बार लिपिबद्ध किया है

Link to comment
Share on other sites

णमोकार मंत्र प्राकृत भाषा और आर्या छंद में लिखा गया है।

यह अनादिनिधन मंत्र है, इसकी रचना किसी ने नहीं की है। यह अनादि काल से है और अनंत काल तक रहेगा।

Edited by PreetiJain
To complete the answer
Link to comment
Share on other sites

Jai jinendra

Answer - प्राकृत भाषा,  आर्या छंद, यह अनादिनिधन मंत्र है आचार्य पुष्पदंत और भूतवली स्वामी जी ने इसे लिपिबद्ध किया था षठखंडागम ग्रंथ में ।

Link to comment
Share on other sites

णमोकार मन्त्र की भाषा प्राकृत है और छन्द आर्या है

इस मन्त्र की रचना किसी ने नहीं की है। यह अनादिनिधन मन्त्र है। न इसका आदि है और न ही अन्त है।

Link to comment
Share on other sites

प्राकृत भाषा और आर्या छन्द

णमोकार मंत्र है अनादिनिधन

(अनादि काल से है अनन्त काल तक रहेगा)

णमोकार मन्त्र को किसी ने नहीं लिखा यह अनादि काल से है, इसे षट्खंडागम धवला जी में मंगलाचरण के रुप में लिपिबद्ध किया गया है।

Link to comment
Share on other sites

णमोकार मंत्र प्राकृत भाषा में लिखा हुआ है और आर्या छंद में लिखा है

णमोकार मंत्र को किसी ने रचा नहीं है अनादि निधन मंत्र है

Link to comment
Share on other sites

प्राकत भाषा 

आर्या छंद पुष्पदंत महाराज और सूत्री महाराज ने रचा णमोकार मंत्र अनादि निधन है

 

 

 

 

 

Link to comment
Share on other sites

Guest
This topic is now closed to further replies.
  • Who's Online   0 Members, 0 Anonymous, 13 Guests (See full list)

    • There are no registered users currently online
  • अपना अकाउंट बनाएं : लॉग इन करें

    • कमेंट करने के लिए लोग इन करें 
    • विद्यासागर.गुरु  वेबसाइट पर अकाउंट हैं तो लॉग इन विथ विद्यासागर.गुरु भी कर सकते हैं 
    • फेसबुक से भी लॉग इन किया जा सकता हैं 

     

×
×
  • Create New...