Jump to content
JainSamaj.World

Saurabh Jain

Administrators
  • Posts

    285
  • Joined

  • Last visited

  • Days Won

    16

Saurabh Jain last won the day on October 5

Saurabh Jain had the most liked content!

3 Followers

Recent Profile Visitors

6,057 profile views

Saurabh Jain's Achievements

Contributor

Contributor (5/14)

  • First Post Rare
  • Collaborator Rare
  • Dedicated Rare
  • Conversation Starter Rare
  • Week One Done Rare

Recent Badges

45

Reputation

  1. ज्ञान से मिलता भव का किनारा, ज्ञान बिना न कोई सहारा । मतिज्ञान के भेद बताओ, केवलज्ञानी तुम बन जाओ ॥ आपके द्वारा दिया गया उत्तर किसी को भी नहीं दिखेगा सभी उत्तर एक साथ खोले जाएंगे आपकी रचनात्मकता शैली इस प्रयोग को सफल बनाएगी आपका स्वाध्याय - आज आपका उपहार
  2. प्रतियोगिता के लिए अब आने वाली entries मान्य नहीं होगी आप अहिंसा पर अभी भी लिख सकते हीं प्रतियोगिता समाप्त अहिंसा संगोष्ठी मे आप अभी भी लिख सकते हैं
  3. सिर्फ दिए गए लिंक पर ही पोस्ट करे - यह Status pe  ना लिखें 

  4. *अनलाइन अहिंसा संगोष्ठी : अहिँसा विषय पर आपकी पंक्तियां*
    https://jainsamaj.vidyasagar.guru/forums/topic/746-1
    आपकी रचनात्मकता शैली इस प्रयोग को  सफल बनाएगी
    आप अंग्रेजी, मराठी अन्य भाषा में भी लिख सकते हैं 
    Principle of ahimsa (Non violence)
    doctrine of non violence

    *आज रात्री दस बजे तक भाग लेने वालो मे* 
    तीन प्रतिभागियों  का चयन लक्की ड्रॉ द्वारा उपहार के लिए  किया जाएगा 
    उनके वाक्यों पर 5 पसंद Like होना अनिवार्य

  5. जय जिननेद्र आप सभी को अपने मंदिर के दर्शन कराने हैं आपके मंदिर के दर्शन सिर्फ आप कर सकते हैं सभी बड़े बाबा के दर्शन करा रहे हैं
  6. नियम / दिशा निर्देश आपको अहिंसा पर आधारित एक वाक्य अथवा कुछ पंक्तियां लिखनी है | वाक्य ऐसा होना चाहिए जो अभी तक किसी और ने ना लिखा हो | सामूहिक प्रस्तुतीकरण का हो प्रयास - अहिंसा का कोई विषय अछूता ना रहे| आपकी रचनात्मकता शैली इस प्रयोग को सफल बनाएगी आपकी पंक्ति / पंक्तियों के अंत मे अहिंसा परमो धर्म की जय लिख सकते हैं | चित्र भी साथ मे संलग्न कर सकते हैं ( जैसे परीक्षा मे उत्तर देते हुए Diagram भी बनाते हैं) आप अंग्रेजी, मराठी अन्य भाषा में भी लिख सकते हैं आप को पूरा निबंध नहीं लिखना हैं सिर्फ - कुछ पंक्तियाँ लिखनी हैं आपके वाक्य को दो बार ना लिखे - एडिट क्लिक कर सुधार कर सकते हैं 3 october 21 रात्री दस बजे तक भाग लेने वालो मे* तीन प्रतिभागियों का चयन लक्की ड्रॉ द्वारा उपहार के लिए किया जाएगा उनके वाक्यों पर 5 पसंद Like होना अनिवार्य करे शुरुआत अहिंसा जैनाचार का प्राण तत्व हैं - इसे ही परम ब्रह्म और परम धर्म कहा गया हैं | अहिंसा परमो धर्म की जय
  7. ☀️ भगवान पार्श्वनाथ मोक्ष कल्याणक व अष्टमी पर्व☀️ जय जिनेन्द्र बन्धुओं....🙏 आज १५ अगस्त, दिन रविवार, श्रावण शुक्ल सप्तमी शुभ तिथि को २३ वें तीर्थंकर देवादिदेव श्री १००८ पार्श्वनाथ भगवान का मोक्ष कल्याणक पर्व तथा एक ही दिन सप्तमी व अष्टमी दो तिथि एक साथ होने के कारण अष्टमी पर्व भी है- 🙏🏻 पार्श्वनाथ भगवान जन-जन के इष्ट भगवान हैं। सभी जिनालयों में पार्श्वनाथ भगवान की प्रतिमा रहती ही हैं। श्रावक सबसे ज्यादा स्मरण पार्श्वनाथ भगवान को ही करते हैं अतः भगवान पार्श्वनाथ का मोक्ष कल्याणक पर्व (मोक्ष सप्तमी पर्व) भी बड़े ही उत्साह व श्रद्धा भक्ति के साथ मनाया जाता है- 🙏🏻 आज पार्श्वनाथ भगवान की पूजन अत्यंत भक्ति-भाव कर भगवान का मोक्ष कल्याणक पर्व मनाएँ। इस वर्ष शास्वत भूमि सम्मेदशिखर जी जाना संभव नहीं है अतः यही से स्वर्णभद्र कूट का स्मरण कर भगवान को निर्वाण लाडू समर्पित करें। 🙏🏻 पार्श्वनाथ भगवान की जय🙏🏻 🙏🏻 मोक्ष कल्याणक पर्व की जय🙏🏻 🙏🏻 तीर्थराज सम्मेदशिखर जी की जय🙏🏻 🙏🙏
  8. सप्त व्यसन है महा दुखदाई, किया है जिसने दुर्गति पाई । नाम कौन है हमें बताता, इनसे बचता वो सुख पाता ॥
  9. नाभिराय के पुत्र कहाय, तीर्थंकर का पद है पाय। कब और कहाँ से मोक्ष है पाया, सही-सही बतलाओ भाया॥
  10. देवाधिदेव 1008 श्री शांतिनाथ भगवान के जन्म, तप, एवं मोक्ष कल्याणक की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏🙏🙏
  11. 🔔 आओ करे पुण्य कार्य 🔔 📕 लॉकर खोले 📕 एक ताले की दो चाबी आज आपको तीसरे प्रश्न का उत्तर देने के लिए पहले दो प्रश्नों का जवाब देना होगा 🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕🛕 उदाहरण- दिशा को कहते है--दिक वस्त्र का पर्यायवाची--अम्बर हम जिस पंथ के अनुयायी है वह है --दिगम्बर 1️⃣ किसी बात की अधिकता को कहते है------ कषाय होती है------ व्रत में दोष लगना कहलाता है------ 🅰️ 2️⃣ शरीर का पर्यावाची--- त्याग करना को कहते है---- पूजन,पाठ के अंत मे करते है---- 🅰️ 3️⃣ मल रहित अर्थात---- आवागमन के साधन को कहते है----- एक कुलकर का नाम----- 🅰️ 4️⃣ हार का विलोम--- मित्र का विलोम----- एक रूद्र का नाम----- 🅰️ 5️⃣ बैल का पर्यायवाची---- सखा का पर्यायवाची----- एक बलदेव का नाम------ 🅰️ 6️⃣ नारी का विलोम---- मुँह का तत्सम रूप----- एक नारद का नाम------ 🅰️ 7️⃣ एक द्वीप का नाम--- प्रभु का पर्यायवाची---- एक कामदेव का नाम---- 🅰️ 8️⃣ नर का पर्यायवाची---- श्रेष्ठ का अर्थ है----- एक नारायण का नाम----- 🅰️ 9️⃣ उपवन में खिलते है---- दाँत का तत्सम रूप---- एक आचार्य का नाम----- 🅰️ 1️⃣0️⃣ कठोर,सख्त अर्थात---- सजा को कहते है---- एक तीर्थंकर का चिन्ह--- 🅰️ 1️⃣1️⃣ ऊर्जा का एक स्त्रोत्र--- राज दरबार मे शीर्ष सिहासन पर विराजित होता है----- एक तीर्थंकर के पिता----- 🅰️ 1️⃣2️⃣ मूर्ति या प्रतिमा को कहते है---- भवन का पर्यायवाची---- मन्दिरजी जिसका शिखर नही होता है वह कहलाता है------ 🅰️ सभी प्रयास करे। पुरुषार्थ से ही पुण्य बढेगा 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 सभी की उत्तर कुछ समय के लिए छुपे रहेंगे
  12. अनलाइन खेलने के लिए इस लिंक को क्लिक करे https://kahoot.it/challenge/0995914?challenge-id=2fab5bbb-3e15-4fa4-9d2b-2ffecd181adf_1621580223135 24 मई तक इस खेल को खेला जा सकत हैं
×
×
  • Create New...