Jump to content
JainSamaj.World
  • entries
    24
  • comments
    337
  • views
    11,826

About this blog

भगवान् महावीर जन्म कल्याणक शुभकामना सन्देश इस लिंक पर लिखें 

https://jainsamaj.vidyasagar.guru/forums/topic/569-1

'

Entries in this blog

पहेली श्रँखला : समीक्षा एवं सुझाव

जय जिनेन्द्र  आपको यह प्रयोग कैसा लग रहा हैं,  नीचे कमेंट के माध्यम से अवगत कराएं | आप सभी ऐप्प जरूर डाउनलोड करलें | नई पहेली की सुचना आप follow बटन के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं   

admin

admin

पहेली क्रमांक 23 से 35

23. सोलह सपने माता देखे, उन्नत गज है हर्ष विशेखे।  फल है इसका कौन बताए, वीर प्रभु को शीश नवाए।   24. बैल स्वप्न में माँ के आया, शभ लक्षण है गर्भ कहाया।  फल है इसका कौन बताए, वीर प्रभु को शीश नवाए।   25.  सिंह स्वप्न में माँ के आया, शुभ लक्षण है गर्भ कहाया। फल है इसका कौन बताए, वीर प्रभु को शीश नवाए।   26.  लक्ष्मी का अभिषेक कराएं, हस्ति देखो स्वप्न में आएं।  फल है इसका कौन बताएं, वीर प्रभु को शीश नवाएं।   27. पुष्प सुगंधित दो मालाए

admin

admin

पहेली क्रमांक 22

बचपन बीता यौवन आया, पर विवाह न वीर रचाया। तीर्थकर वे कौन कहावे, इन्द्र भी जिनको शीश

admin

admin

पहेली क्रमांक 21

देखो कितनी सुन्दर काया, कामदेव भी है शर्माया। वर्ण कौन-सा कौन बताए, महावीर-सा रूप है पाए।

admin

admin

पहेली क्रमांक 20

दिव्यध्वनि जो दुख को हरती, वीर प्रभु के मुख से खिरती। प्रथम देशना सबने पाई, तिथी कौन-सी बताओ भाई ।।

admin

admin

पहेली क्रमांक 19

वीर प्रभु ने कर्म नशाया, श्री अरिहन्त का पद है पाया। यक्ष-यक्षिणी कौन बताए, जिनशासन की शान बढ़ाए।

admin

admin

पहेली क्रमांक 18

केवलज्ञान प्रभु ने पाया, समवशरण भी इन्द्र रचाया। मौन रहे प्रभु वीर न बोले, कितने दिन तक मुख न खोले।  

admin

admin

पहेली क्रमांक 17

अतिवीर जी नाम है प्यारा, वीरों का भी एक सहारा। नाम प्रभु का कौन पुकारे, सही बताओ वर्ना हारे॥    

admin

admin

पहेली क्रमांक 16

वर्द्धमान जी जो कहलाये, कर्म काट मुक्ति को पाये। नाम 'वीर जी' किसने पुकारा, सही बताओ धर्म सहारा॥  

admin

admin

पहेली क्रमांक 15

'महावीर' शुभ नाम कहाया, दूजा कौन जगत् में भाया। रखा किन्होंने नाम बताओ, सही बताकर इनाम पाओ।    

admin

admin

पहेली क्रमांक 14

14. नाम 'सन्मति' प्रभु ने पाया, सच्चा पथ है हमें बताया। मुनिवर कौन वे ऋद्धिधारी, कर्म सैन्य भी जिनसे हारी।।  

admin

admin

पहेली क्रमांक 13

चार घातियाँ कर्म नशाया, प्रभु ने केवलज्ञान है पाया। तिथी कौन-सी कौन बताए, वीर प्रभु को शीश नवाए।

admin

admin

पहेली क्रमांक 12

घोर-घोर उपसर्ग है कीना, प्रभु डिगे न ध्यान में लीना। बैरी कौन वो नाम बताएं, वीर प्रभु सम हम बन जाएं।

admin

admin

पहेली क्रमांक 11

राग-आग में कभी ना जलना, ना ही भव बंधन में फँसना। दीक्षा वीर प्रभु जी धारे, तिथी कौन-सी सदा सहारे॥

admin

admin

पहेली क्रमांक 10

देव-देवियाँ स्वर्ग से आते, क्षीर सिन्धु का जल हैं लाते।। प्रभु अभिषेक कहाँ वे करायें, वीर प्रभु जी खुशी मनायें। 11.

admin

admin

पहेली क्रमांक 9

तीर्थकर जो भव से तारे, भव्य जनों के बने सहारे। जन्म लिया कब वीर बताएं, सही बताकर पहचान  पाएं।

admin

admin

पहेली क्रमांक 8

वीर प्रभु जी गर्भ में आये, मात-पिता जन मन हर्षाये। तिथी कौन-सी कौन बताए, तथा महोत्सव आप मनाये।

admin

admin

पहेली क्रमांक 7

अंतिम तीर्थकर कहलाते, हम सब जिनको शीश नवाते। नाना-नानी का नाम बताओ, महावीर सम तुम बन जाओ॥

admin

admin

पहेली क्रमांक 6

त्रिशला रानी माँ कहलाती, महावीर को प्यार जताती।   जन्म कहाँ पर माँ ने पाया, कौन बताए मेरे भाया।

admin

admin

पहेली क्रमांक 5

वर्द्धमान ने जन्म है पाया, देवों ने जयकार लगाया। महल कौन-सा कौन बताए, कुण्डलगिरी में दर्शन पाए।

admin

admin

पहेली क्रमांक 4

वीर प्रभु को गर्भ में आना, इन्द्र ने अपने ज्ञान से जाना।  रत्न कहाँ पर है बरसाना, कुबेर को है ज्ञात कराना॥ 

admin

admin

पहेली क्रमांक 3

समवशरण में प्रभु को पाया, शीश नवाया संयम पाया। आयां व्रत वे कोन हैं धारे, वर्धमान से रिश्ता पाले। 

admin

admin

पहेली क्रमांक 2

पूर्व दिशा सम माँ कहलाती, जीवन अपना धन्य बनाती। माँ का दूजा नाम बताओ, त्रिशला वीर प्रभु को ध्याओ॥

admin

admin

पहेली क्रमांक 1

वीर प्रभु ने जन्म है पाया, भव्यों का है भाग्य जगाया। । दादा-दादी का नाम बताओ, महावीर सम सब बन जाओ॥

admin

admin

×
×
  • Create New...