Jump to content
  • entries
    24
  • comments
    337
  • views
    2,351

पहेली क्रमांक 23 से 35

admin

359 views

23. सोलह सपने माता देखे, उन्नत गज है हर्ष विशेखे। 

फल है इसका कौन बताए, वीर प्रभु को शीश नवाए।

 

24. बैल स्वप्न में माँ के आया, शभ लक्षण है गर्भ कहाया। 

फल है इसका कौन बताए, वीर प्रभु को शीश नवाए।

 

25.  सिंह स्वप्न में माँ के आया, शुभ लक्षण है गर्भ कहाया।

फल है इसका कौन बताए, वीर प्रभु को शीश नवाए।

 

26.  लक्ष्मी का अभिषेक कराएं, हस्ति देखो स्वप्न में आएं। 

फल है इसका कौन बताएं, वीर प्रभु को शीश नवाएं।

 

27. पुष्प सुगंधित दो मालाएं, स्वप्न में माता के है आएं। 

फल है इसका कौन बताए, वीर प्रभु को शीश नवाए।।

 

28 पूर्ण चन्द्रमा मन को भाता, अंधकार को दूर भगाता। 

स्वप्न में देखे त्रिशलारानी,स्वज के फल की कहो कहानी।।

 

29. उदयाचल पर्वत पर भारी, सूर्य दिखा जो संकटहारी। 

स्वप्न में देखे त्रिशलारानी, कहे कौन शुभ फल की वाणी।।

 

30. स्वर्ण कलश दो स्वप्न में आए, जल से भरे सदा मन भाए।

फल है इसका कौन बताए, वीर प्रभु को शीश नवाए।

 

 31.मत्स्य युगल तालाब में भाई, स्वप्न में देखे प्रभ सखदाई। 

फल है इसका कौन बताए, वीर प्रभु को शीश नवाए।

 

32. जल से भरा सरोवर भाई , स्वप्न में देखे माँ सहाई।

फल है इसका कौन बताए, वीर प्रभु को शीश नवाए।

 

33. जोरदार गर्जन है करता, सागर जल जो तरंग धरता।

स्वप्न में देखे त्रिशला माई, कौन-सा फल है बताओ भाई ।।

 

34. सिंहासन सपने में आया, माँ त्रिशला का मन हर्षाया।

स्वप्न का फल है कौन बताये, सही बताकर इनाम पाये।

 

35. स्वर्ग लोक का विमान भाई, स्वप्न में देखे माँ सुखदाई।

फल है इसका कौन बताए, सही बताकर इनाम पाए।

  • Thanks 1


13 Comments


Recommended Comments

23-सिद्धार्थ                                                    

24-पुत्र का जन्म जगत कल्याण के लिये होगा

Share this comment


Link to comment

23 बालक तीर्थंकर 

24 बालक धर्म चक्र का संचालक

25 बालक कर्म को नष्ट करने वाला होगा 

 26 बालक सुमेरु पर्वत पर इंद्रादिक द्वारा अभिषेक होगा 

27बालक सुगंधितशरीर वाला होगा 

Share this comment


Link to comment

26-देवलोक से देवगण आकर पुत्र का अभिषेक करेगे

Share this comment


Link to comment

28 बालक धर्म रूपी अमृत  की  वर्षा करने वाला तीर्थ प्रवर्तक होगा 

29 बालक अज्ञान अंधकार को नाश करने वाला होगा 

30   बालक अनेक निधियों का स्वामी होगा 

31 बालक कल्याणकारी होगा 

32 बालक शुभ लक्षण एवं व्यंजन से सुशोभित होगा 

33 बालक केवलज्ञानी होगा 

34बालक महाराज पद से घोषित होगा 

35पुत्र स्वर्ग से आएगा

 

Share this comment


Link to comment

27-वह धर्म तीर्थ स्थापित करेगा और जन जन द्वारा पूजित होगा                                            28-उसके तीनोलो को मे लोग आनंदित होगें       29-पुत्र सुर्य के समान तेज युक्त और पापी प्राणियो का उद्धाक होगा                                  

      

30-वह पुत्र अनेक निधियों का स्वामी निधिपति होगा

31-वह पुत्र महा आनंद का दाता, दुख हर्ता होगा  32-1008शुभ लक्षणों से युक्त पु त्र प्राप्त होगा    33-

Share this comment


Link to comment

33-यह पुत्र भूत , भविष्य, वर्तमान का ज्ञाता होगा34-पुत्र राज्य का स्वामी और प्रजा का हितचिंतक होगा

35-इस जन्म से पूर्व वह स्वर्ग में देवता होगा

Share this comment


Link to comment

23: अद्भुत पुत्र रत्न होगा

24:पुत्र जगत कल्याण करनेवाला

25:पुत्र सिंह के समान बलशाली होगा

26:देव लोक से देवगन आकर उस पुत्र का अभिषेक करेंगे

27:धर्म तीर्थ स्थापित करेगा और जनजन द्वारा पूजित होगा

28:जन्म से तीनों लोक आनंदित होंगे

29:पुत्र सूर्य के समान ओर पापी प्राणियों का उद्धार करने वाला होगा

30:पुत्र अनेक निधियों का स्वामी निधिपति होंगा

31:पुत्र महा आनंद का दाता दुःख हारता होगा

32:१००८ शुभ लक्षणों से युक्त पुत्र प्राप्त होगा

33:भूत भविष्य वर्तमान का ज्ञाता केवली पुत्र

34:पुत्र राज्य का स्वामी और प्रजा का हितचिंतक होगा

35:पुत्र जन्मसे ही त्रिकाल दर्शी होगा

  • Thanks 1

Share this comment


Link to comment

23. बालक तीर्थंकर होगा

24. धर्म चक्र का संचालक होगा

25. कर्मों  को नष्ट करने वाला  अनंत बलवान होगा 

26. सुमेरु पर्वत पर इंद्रो द्वारा स्नान कराना 

27. सुगंधित शरीर वाला और श्रेष्ठ ज्ञानी होगा

28 धर्म रूपी अमृत की वर्षा करने वाला और भव्य जीवो को प्रसन्न करने वाला होगा

29‌ अज्ञान रूपी अंधकार का विनाशक

30 अनेक निधियों का स्वामी होगा

31 सबके लिए कल्याणकारी व महान सुखी होगा 

32 व्यंजनों से सुशोभित शरीर वाला होगा

33 नो केवल लब्धियो वाला केवलज्ञानी होगा 

34 महाराज पदवाच्य  जगत का स्वामी होगा

35 नागेंद्र भवन के अवलोकन से अवधि ज्ञान रूपी नेत्र को धारण करने वाला होगा 

Share this comment


Link to comment

23तीर्थंकर पद धारी

24धर्मचक्र संचालक

25अष्टकर्म नाशक

26सुमेरू पर अभिषेक होगा

27सुगंधित शरीर धारी विशेष ज्ञानी

28धर्म सुधा बरसा ने वाला भव्य जीवों को सुख देने वाले

29अज्ञान तिमिर नाशक

30नवनिधि पति

 

31सर्वकल्याणकारी

32,1008सुव्यंजनों से सुशोभित

33केवललब्धि का स्वामी

34जगदीश्वर

35त्रिकालदर्शी

Share this comment


Link to comment

28 बालक धर्म रूपी अमृत  की  वर्षा करने वाला तीर्थ प्रवर्तक होगा 

29 बालक अज्ञान अंधकार को नाश करने वाला होगा 

30   बालक अनेक निधियों का स्वामी होगा 

31 बालक कल्याणकारी होगा 

32 बालक शुभ लक्षण एवं व्यंजन से सुशोभित होगा 

33 बालक केवलज्ञानी होगा 

34बालक महाराज पद से घोषित होगा 

35पुत्र स्वर्ग से आएगा

 

Share this comment


Link to comment

23  बालक तीर्थंकर होगा

24 धर्म चक्र का संचालक होगा

25  कर्मों को नष्ट करने वाला अन्नंत बलवान होगा

26सुमेरु पर्वत पर इन्द्र द्वारा स्नान कराना

27सुगंधित शरीर वाला और श्रेष्ठ ज्ञानी होगा

28 धर्मरूपी अमृत की वर्षा करने वाला और भव्य जीवो को प्रसन्न करने वाला होगा

29 अज्ञान रूपी अंधकार का विनाशक

30 अनेक निधियो का स्वामी होगा

31 सबके लिये कल्याणकारी व महान सुखी होगा

32 व्यंजनों से सुशोभित शरीर वाला होगा

33 नो केवल लब्धियो वाला केवलज्ञानी होगा

34 माहराज पदवाच्य जगत का स्वामी होगा

35 नागेन्द्र भवन के अवलोकन से अवधि ज्ञान रूपी नेत्र को धारण करने वाला होगा

Share this comment


Link to comment

23: अद्भुत पुत्र रत्न होगा ।

24:पुत्र जगत कल्याण करनेवाला ।

25:पुत्र सिंह के समान बलशाली होगा ।

26:देव लोक से सभी देव आकर उस पुत्र का अभिषेक करेंगे ।

27:धर्म तीर्थ स्थापित करेगा और जन-जन द्वारा पूजित होगा ।

28:जन्म से तीनों लोक आनंदित होंगे ।

29:पुत्र सूर्य के समान और पापी प्राणियों का उद्धार करने वाला होगा ।

30:पुत्र अनेक निधियों का स्वामी होगा ।

31:पुत्र महा आनंद का दाता दुःख हारता होगा ।

32:१००८ शुभ लक्षणों से युक्त पुत्र प्राप्त होगा ।

33:भूत भविष्य वर्तमान का ज्ञाता केवली पुत्र होगा ।

34:पुत्र राज्य का स्वामी और प्रजा का हितचिंतक होगा ।

35:पुत्र जन्मसे ही त्रिकालदर्शी होगा ।

Share this comment


Link to comment
Guest
Add a comment...

×   Pasted as rich text.   Paste as plain text instead

  Only 75 emoji are allowed.

×   Your link has been automatically embedded.   Display as a link instead

×   Your previous content has been restored.   Clear editor

×   You cannot paste images directly. Upload or insert images from URL.

  • अपना अकाउंट बनाएं

    • कमेंट करने के लिए लोग इन करें 
    • विद्यासागर.गुरु  वेबसाइट पर अकाउंट हैं तो लॉग इन विथ विद्यासागर.गुरु भी कर सकते हैं 
    • फेसबुक से भी लॉग इन किया जा सकता हैं 

     

×
×
  • Create New...