Jump to content
JainSamaj.World

Jain Sadhus (Monks)


Albums

  1. Our Jain Aacharya Updated

    जो पञ्च प्रकार के आचारो का स्वयं पालन करते है और अपने शिष्यों से कराते है ,उन्हें आचार्य परमेष्ठी है । आचार्य मुनिसंघ के नायक होते है । शिष्यों पर अनुग्रह करुनका संग्रह करना , दीक्षा देना तथा प्रायश्चित प्रदान करना उनका मुख्य कार्य है ।
    Saurabh Jain
    Album created by By
    Saurabh Jain Updated
    • 7
    • 0
    • 0
    • 7 images
    • 0 comments
    • 0 image comments
  • अपना अकाउंट बनाएं : लॉग इन करें

    • कमेंट करने के लिए लोग इन करें 
    • विद्यासागर.गुरु  वेबसाइट पर अकाउंट हैं तो लॉग इन विथ विद्यासागर.गुरु भी कर सकते हैं 
    • फेसबुक से भी लॉग इन किया जा सकता हैं 

     

×
×
  • Create New...