Jump to content
Sign in to follow this  

About This Club

जैन समाज झाँसी

Category

Regional Samaj

Jain Type

Digambar
Shwetambar

Country

Bharat (India)

State

Uttar Pradesh
  1. What's new in this club
  2. अतिशय क्षेत्र टोड़ी-फतेहपुर (मऊरानीपुर) नाम एवं पता - श्री दिगम्बर जैन अतिशय चमत्कारी क्षेत्र, टोड़ी-फतेहपुर, ग्राम - टोड़ी - फतेहपुर,तहसील - महरौली, जिला - झाँसी (उत्तर प्रदेश) क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - 10, कमरे (बिना बाथरूम) - 40 हॉल -3 (यात्री क्षमता-200) गेस्ट हाऊस - पंडवाहा - 5 कि.मी. यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 500 भोजनशाला - नियमित कृष्ण पक्ष में 12 से दोज तक प्रतिमाह निशल्क औषधालय - है निजी एवं शासकीय विद्यालय - शासकीय एस.टी.डी./ पी.सी.ओ.- है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - मऊरानीपुर - 30 कि.मी., झाँसी - 90 कि.मी. बस स्टेण्ड - टोड़ी फतेहपुर - 50 मीटर पहुँचने का सरलतम मार्ग - गुरसराय मार्ग पर पंडवाहा तिराहा 5 कि.मी., टैक्सी दिनभर, प्रतिदिन उपलब्ध है। मऊरानीपुर एवं झाँसी से नियमित बस । निकटतम प्रमुख नगर - मऊ रानीपुर - 30 कि.मी., गुरसराय - 11 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री दिगम्बर जैन पंचायत समिति, टोड़ी-फतेहपुर अध्यक्ष - श्री कोमलचन्द जैन मंत्री - श्री पवन कुमार जैन प्रबन्धक - श्री मिलापचन्द जैन क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 02 क्षेत्र पर पहाड़ - नहीं ऐतिहासिकता - इस क्षेत्र में 2 मनोहारी अतिशययुक्त जिन मंदिर है, जिसमें चौबीसी, समवशरण एवं नन्दीश्वर द्वीप की मनोहारी रचना है। यहाँ घरणेन्द्र देव एवं माता पद्मावती द्वारा समवशरण सभा का संचालन किया जाता है। प्रवचन भी होते हैं एवं धर्म का मार्ग भी दिखाया जाता है। विशेषता - यहाँ पर असाध्य रोगों का इलाज मात्र जैन धर्म के माध्यम से किया जाता है। इस मंदिर में जो भी रोगी रोता हुआ आता है वह प्रसन्न होकर जाता है। यहाँ पर संकट से घिरे हुए व्यक्तियों की बाधाओं का निराकरण होता है। वार्षिक मेले या विशेष आयोजन की तिथियाँ: समवशरण सभा कृष्णपक्ष की 12 से प्रारंभ होकर द्वितीया तक चलती है, जिसमें यात्रियों के ठहरने एवं भोजन की नि:शुल्क व्यवस्था है। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र करगुंआजी-झाँसी - 90 कि.मी., अहारजी - 90 कि.मी., पपौराजी - 95 कि.मी., अधिकतम दूरी - 110 कि.मी., खजुराहो - 140 कि.मी.,सोनागिरि - 135 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  3. अतिशय क्षेत्र करगुवाँजी नाम एवं पता - श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र सावंलिया पार्श्वनाथ, करगुवाँजी, मेडिकल कॉलेज, गेट नं. 2 के सामने, झाँसी (उत्तरप्रदेश) पिन - 284 128 टेलीफोन - 099360 32825 (सुरेश) क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम)- 15 , कमरे (बिना बाथरूम) - 40 हाल - 3 (यात्री क्षमता - 25), ए. सी. रूम - 5 यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 300. भोजनशाला - है, नियमित, सशुल्क औषधालय - है (ऐलोपेथी) पुस्तकालय - है। एस.टी.डी./पी.सी.ओ.- है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - झाँसी -5 कि.मी. बस स्टेण्ड - झाँसी - 2 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - सड़क मार्ग निकटतम प्रमुख नगर - झाँसी -3 कि.मी., दतिया - 30 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री दिगम्बर जैन पंचायत समिति, गांधी रोड़, झाँसी अध्यक्ष - श्री जिनेन्द्र जैन । मंत्री - श्री ऋषभ जैन (094511 30616) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 05 क्षेत्र पर पहाड़ - नहीं ऐतिहासिकता - करगुवाँजी तीर्थ 700 वर्ष प्राचीन है। 200 वर्ष पूर्व जमीन के नीचे से स्वप्न देकर भोयरा निकला जिसमें से खुदाई से भगवान पार्श्वनाथ एवं आदिनाथ की 7 प्रतिमाएँ प्राप्त हुई एवं भगवान महावीर की एक प्रतिमा की प्रतिष्ठा की गई। विशेष जानकारी - यहाँ मूलनायक प्रतिमा भगवान पार्श्वनाथ की है। क्षेत्र पर श्री विद्यासागर सभागार, स्वाध्याय भवन, जैन मिलन भवन बने हुए हैं। विशेष मेले - भगवान महावीर के जन्म दिवस एवं निर्वाण दिवस पर मेले लगते है। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र सोनागिरिजी-45 कि.मी., पावागिरिजी (ललितपुर) -50 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  4.  
×