Jump to content
JainSamaj.World

About This Club

जैन समाज खोर्धा

Category

Regional Samaj

Jain Type

Digambar
Shwetambar

Country

Bharat (India)

State

Odisha
  1. What's new in this club
  2. सिद्ध क्षेत्र खंडगिरि-उदयगिरि उड़ीसा नाम एवं पता - श्री खंडगिरि - उदयगिरि दिगम्बर जैन सिद्धक्षेत्र, ग्राम - खंडगिरि-भुवनेश्वर, जिला - खुरड़ा (उड़ीसा) पिन - 751030 टेलीफोन - 0674-2384530, 09438730773, 09437313970 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - 08, कमरे (बिना बाथरूम) - 24 हाल-1(यात्री क्षमता-20 ), गेस्ट हाऊस-1, ए.सी.सहित कमरा यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 100. भोजनशाला - सशुल्क, अनुरोध पर औषधालय - है (होम्योपैथिक) पुस्तकालय - है। विद्यालय - नहीं एस.टी.डी./पी.सी.ओ.- है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - भुवनेश्वर - 8 कि.मी. बस स्टेण्ड - वरमुण्डा बस स्टेण्ड पहुँचने का सरलतम मार्ग - रेल अथवा सड़क मार्ग से, भुवनेश्वर से टेम्पो, ऑटो रिक्शा उपलब्ध रहते हैं। निकटतम प्रमुख नगर - भुवनेश्वर - 8 कि.मी., कटक - 30 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री बंगाल बिहार उड़ीसा दि. जैन तीर्थक्षेत्र कमेटी, कोलकाता अध्यक्ष - श्री शांतिलाल पाटोदी, कोलकाता मंत्री - श्री भागचन्द कासलीवाल, कोलकाता (09437042974) क्षेत्र मंत्री - श्री शांतिकुमार जैन, कटक (0671-2310258, 2310126) उप - मंत्री - श्री सपंतलाल बाकलीवाल, कटक (0671 - 2440983) प्रबन्धक - श्रीमती विमलादेवी जैन, खंडगिरि (09438730773) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या : 28 (उदयगिरि पर 18 गुफाएँ, खंडगिरि पर 4 मन्दिर एवं 5 गुफाएँ तथा धर्मशाला में एक जिनालय) क्षेत्र पर पहाड़ : है। 125 सीढ़ियाँ हैं। ऐतिहासिकता : उदयगिरि पहाड़ी 35 मीटर ऊँची है। जिसमें 18 गुफाएँ भव्य एवं दर्शनीय हैं तथा 2500 वर्ष पुराना खारवेल का शिलालेख है। खंडगिरिपहाड़ी लगभग 40 मीटर ऊँची है। यहाँ 4 जिनालय एवं 5 गुफाएँ हैं। अनंत गुफा में डेढ़ हाथ की कायोत्सर्ग जिन प्रतिमा है। इन्द्रकेसरी गुफा में 8 प्रतिमाएँ अंकित हैं। आदिनाथ गुफा में 24 तीर्थंकरों की प्रतिमाएँ हैं। यहाँ भगवान महावीर का समवशरण आया था अत: यह अतिशय क्षेत्र भी माना जाता है। यहाँ से जयद्रथ राजा के 500 पुत्र मोक्ष गये थे, अत:यह सिद्धक्षेत्र भी है। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र - लिंगराज टेम्पल-10 कि.मी., धवलगिरि-15 कि.मी., कोणार्क-65 कि.मी., नंदनकानन-21 कि.मी., जगन्नाथपुरी - 60 कि.मी., कटक 30 कि.मी., ये सभी दर्शनीय स्थल हैं। आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|
  3.  

×
×
  • Create New...