Jump to content
Sign in to follow this  

About This Club

जैन समाज विदिशा

Category

Regional Samaj

Jain Type

Digambar
Shwetambar

Country

Bharat (India)

State

Madhya Pradesh
  1. What's new in this club
  2. अतिशय क्षेत्र सिरोंज मध्यप्रदेश नाम एवं पता - श्री दिगम्बर जैन जिनोदय अतिशय तीर्थ क्षेत्र, सिरोंज आरोन रोड़, नगर एवं तह. - सिरोंज, जिला - विदिशा (मध्यप्रदेश) पिन - 464 228 टेलीफोन - क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - 15, कमरे (बिना बाथरूम) - 30 हाल -11, (यात्री क्षमता - 100) गेस्ट हाऊस - 2 यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 1000. भोजनशाला - सशुल्क, अनुरोध पर औषधालय - नहीं पुस्तकालय - है। विद्यालय - नहीं एस.टी.डी./ पी.सी.ओ.- है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - गंजबासौदा-45 कि.मी., बीना-60 कि.मी., मण्डी बामोरा-50 कि.मी. बस स्टेण्ड - सिरोंज क्षेत्र से 4 कि.मी., सागर-125 कि.मी., भोपाल-110 कि.मी., पहुँचने का सरलतम मार्ग - विदिशा, ब्यावरा 80 कि.मी., गुना 80 कि.मी., अशोकनगर 80 कि.मी. सागर आदि स्थानों से बस सविधा उपलब्ध है। निकटतम प्रमुख नगर - सिरोंज - 4 कि.मी., आरोन कच्चे मार्ग द्वारा 1.5 कि.मी., बाईपास 2 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री दि. जैन अतिशय क्षेत्र नसियाँ ट्रस्ट, सिरोंज अध्यक्ष - श्री चाँदमल जैन, भौरिया (07591-253061, 094254 31861) महामंत्री - श्री रविन्द्रकुमार विजयराज जैन (09977866341, 098268 85551) मैनेजर - श्री महेशचन्द्र जैन (08109897230) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या : 09, निर्माणाधीन 2 मंदिर क्षेत्र पर पहाड़ : छोटी पहाड़ी पास में है। ऐतिहासिकता : यह क्षेत्र विन्ध्याचल पर्वत श्रृंखला के मध्य स्थित है। जिनालय में मूलनायक भगवान बाहुबली स्वामी की 15 फुट उत्तुंग प्रतिमा है। भगवान संभवनाथ की 7 फुट उत्तुंग प्रतिमा 1100 वर्ष पुरानी है। 2 चौबीसी 12 वीं शताब्दी की एक ही मार्बल पर स्थित हैं। क्षेत्र के पास 110 बीघा जमीन है, बगीचा है, स्थान सुरम्य एवं देखने योग्य है। मुख्यवेदी भगवान आदिनाथस्वामी की है। वार्षिक मेले : प्रति वर्ष माघबदी चौदस को वार्षिक विमानोत्सव का मेला एवं धार्मिक, सांस्कृतिक आयोजन किये जाते है। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र - बजरंगगढ़ - 80 कि.मी., उदयगिरि (विदिशा) -85 कि.मी., चंदेरी 180 कि.मी. त्रिकाल चौबीसी (अशोकनगर) -80 कि.मी., चंदेरी - 180 कि.मी., थुबोनजी - 100 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|
  3. अतिशय क्षेत्र/दीक्षास्थली सेमरखेड़ी (निसईजी) मध्यप्रदेश नाम एवं पता - श्री तारण तरण दि. जैन, अतिशय तीर्थक्षेत्र, निसईंजी पोस्ट/ग्राम-सेमरखेड़ी, तह.-सिरोंज,जिला-विदिशा (मध्यप्रदेश) पिन-464228 टेलीफोन - 08989944956 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - 30, कमरे (बिना बाथरूम) - 150 हाल -7, (यात्री क्षमता - 200+300+500) गेस्ट हाऊस - 5 यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 3000. भोजनशाला - अनुरोध पर, नि:शुल्क औषधालय - नहीं पुस्तकालय - है, शास्त्र-100 विद्यालय - है एस.टी.डी./पी.सी.ओ.- है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - गंजबासौदा - 45 कि.मी. बस स्टेण्ड - सिरोंज -7 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - सिरोंज से सेमरखेड़ी बस द्वारा निकटतम प्रमुख नगर - भोपाल - 115 कि.मी., बीना - 60 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री तारण तरण दि.जैन अतिशय तीर्थक्षेत्र, निसईंजी सेमरखेड़ी ट्रस्ट अध्यक्ष - श्रीमंत सेठ श्री प्रेमचन्द जैन मंत्री - श्री सूर्यकान्त तारण जैन (098262 59108) प्रबन्धक - श्री प्रेमचन्द जैन (08989944956, 07747952484) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या : 01 क्षेत्र पर पहाड़ : है (साधारण चढ़ाई एवं गुफाएं हैं) ऐतिहासिकता : आचार्य तारण तरण मंडलाचार्य महराज 16 वीं शताब्दी के महान क्रांतिकारी संत थे। कहा जाता है कि इनका जीव 3919 जीवात्माओं सहित भगवान महावीर के समवशरण में था। फलतः इन्होंने अपने सम्पूर्ण ग्रन्थों मेंभगवान महावीर की वाणी को ही प्रतिपादित किया है। यह क्षेत्र दीक्षास्थली के रूप में जाना जाता है। विशेष जानकारी : यहाँ प्रतिवर्ष बसंत पंचमी पर वार्षिक मेला लगता है। वर्ष में 2 बार ज्ञान, ध्यान, आराधना शिविर तथा एक बार बाल शिक्षण शिविर लगता है। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र - श्री तारणतरण जैन तीर्थक्षेत्र मल्हारगढ़ निसईजी - 60 कि.मी. श्री 1008 बाहुबली दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र, नसियाँजी - 10 कि.मी. 127) आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|
  4. अतिशय क्षेत्र/कला तीर्थ ग्यारसपुर मध्यप्रदेश नाम एवं पता - श्री 1008 दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र चौबीसी मन्दिर, ग्यारसपुर ग्राम/तहसील - ग्यारसपुर, जिला - विदिशा (मध्यप्रदेश) पिन - 464 331 टेलीफोन - 07596 - 263222, 08269252080 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - निर्माणाधीन,कमरे (बिना बाथरूम)-2 हाल - 1(यात्री क्षमता - 15), गेस्ट हाउस - शासकीय यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 25. भोजनशाला - नहीं औषधालय - है (वैद्य दीपचन्द जैन द्वारा संचालित धर्मार्थ) पुस्तकालय - नहीं विद्यालय - नहीं एस.टी.डी./ पी.सी.ओ. - है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - विदिशा - 37 कि.मी. बस स्टेण्ड - ग्यारसपुर । पहुँचने का सरलतम मार्ग - बस द्वारा विदिशा - सागर सड़क मार्ग पर स्थित विदिशा - 37 कि.मी., सागर - 80 कि.मी., प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - दि. जैन अतिशय क्षेत्र चौबीसी मन्दिर कमेटी, ग्यारसपुर अध्यक्ष - श्री नरेश कुमार जैन (09907755500) मंत्री - श्री रूपेन्द्र जैन (099936 02776) प्रबन्धक - श्री सुरेन्द्रकुमार गोयल क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या : 01 क्षेत्र पर पहाड़ : है माला देवी (सीधी चढ़ाई हैं)। 1 कि.मी. वाहन पहाड़ पर जाते है। ऐतिहासिकता : इस क्षेत्र पर अतिशयकारी चौबीसी जिन बिम्ब विद्यमान हैं। 10 वीं शताब्दी का दिगम्बर जैन मन्दिर दो पहाड़ियों के मध्य कला का अद्भुत नमूना है। वज्रमठमन्दिर भी उच्च कलाकोटि का जैन मन्दिर है। नगर के भीतर बाहर अनेक पुरावशेष बिखरे पड़े हैं। किंवदन्ती है कि राजा श्रीपाल का कुष्ठ रोग यहाँ के मानसरोवर तालाब से दूर हुआ था। कुछ विद्वानों के अनुसार यह क्षेत्र भगवान शीतलनाथ की तपोभूमि और दो कल्याणक क्षेत्र है। भगवान पाश्र्वनाथ की खड्गासन 4 फुट 9 इंच की प्रतिमा है। लगभग 50 वर्ष पूर्व किन्हीं अज्ञात कारण से प्रतिमा में से पसीना निकला था। जो हवन शुद्धि पर बंद हुआ। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र - विदिशा (उदयगिरि की गुफाएँ)- 37 कि.मी., भोपाल - 93 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|
  5. अतिशय क्षेत्र भौंरासा मध्यप्रदेश नाम एवं पता - श्री 1008 पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र, भौंरासा ग्राम - भौंरासा, तहसील - कुरवाई, जिला - विदिशा (मध्यप्रदेश) पिन - 464224 टेलीफोन - 07593 - 247054, 247252, 09009153244 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - 6, कमरे (बिना बाथरूम) - 6 हाल - 4 (यात्री क्षमता - 200), गेस्ट हाऊस -X यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 300. भोजनशाला - नि:शुल्क, अनुरोध पर औषधालय - नहीं पुस्तकालय - है। विद्यालय - नहीं एस.टी.डी./पी.सी.ओ. - है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - मंडी बामोरा - 8 कि.मी., बीना जंक्शन - 18 कि.मी. बस स्टेण्ड - कुवाई - 3 कि.मी. एवं भौंरासा पहुँचने का सरलतम मार्ग - मंडी बामोरा एवं बीना से सड़क मार्ग निकटतम प्रमुख नगर - बीना - 18 कि.मी., मंडी बामोरा - 8 कि.मी., कुरवाई - 3 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री 1008 पाश्र्वनाथ दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र समिति, भौंरासा अध्यक्ष - श्री जिनेन्द्रकुमार जैन, भौंरासा उपाध्यक्ष - श्री सतीश कुमार जैन (099774 43259) कोषाध्यक्ष - श्री नवीन जैन (098934 86288) प्रबन्धक - श्री प्रदीपजी (ब्रह्मचारी) (094251 56630, 09425471171) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या : 01 क्षेत्र पर पहाड़ : नहीं ऐतिहासिकता : क्षेत्र पर मन्दिरजी में पार्श्वनाथ भगवान की श्वेत पद्मासन साढे चार फुट ऊँची, सं. 1272 की प्रतिष्ठित विराजमान है एवं चन्द्रप्रभु भगवान 1143 की श्वेत पाषाण की प्रतिमाएँ हैं। यह क्षेत्र 4000 वर्ग फुट में विकसित है । भौंरासा एक सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक तीर्थस्थल है। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र - बड़ोह - 40 कि.मी., सिरोंज नसियाँजी - 40 कि.मी., उदयगिरि (विदिशा) - 80 कि.मी., चंदेरी (चौबीसी) -70 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|
  6. कला क्षेत्र बडोह मध्यप्रदेश नाम एवं पता - गड़मल दिगम्बर जैन मन्दिर एवं चौबीसी दिगम्बर जैन वन मन्दिर, बड़ोह ग्राम-बड़ोह, पोस्ट-पठारी, त.-कुरवाई, जिला-विदिशा (म.प्र.) पिन- 464337 टेलीफोन - 07593-245405, 09977154101, 09425683535 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - X, कमरे (बिना बाथरूम) - X हाल -, गेस्ट हाऊस - X यात्री ठहराने की कुल क्षमता - पठारी 2कि.मी. जैन धर्मशाला है। शासकीय क्वाटर्स है, यात्रियों की ठहरने की सुविधा उपलब्ध है। भोजनशाला - अनुरोध पर औषधालय - है| पुस्तकालय - नहीं विद्यालय - नहीं एस.टी.डी./पी.सी.ओ.- नहीं आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - गंजबासोदा - 35 कि.मी. बस स्टेण्ड - पठारी - 1 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - पठारी से बड़ोह निकटतम प्रमुख नगर - गंजबासौदा - 35 कि.मी., पठारी 2 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - गड़मल दिगम्बर जैन मन्दिर कमेटी अध्यक्ष - श्री अन्नीलाल जैन (07593 - 245618) मंत्री - श्री अभिनन्दन जैन (07593 - 245405) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या : 02 क्षेत्र पर पहाड़ : पास में एक कि.मी. पर है। ऐतिहासिकता : यह एक प्राचीन कला क्षेत्र है। यहाँ की कलाकृतियाँ 11 वीं शताब्दी की ज्ञात होती है। बड़े बाबा की प्राचीन प्रतिमा खड्गासन है, जिसकी ऊँचाई 18 फुट - चौड़ाई 4 फुट है। प्रतिमा अत्यन्त मनोहारी है। वन मन्दिर चौबीसी में 19 कोठरी हैं। अन्य दर्शनीय स्थल सोलह खम्बा, दश अवतार, गुफा भीमगजा तथा म्यूजियम हैं। यह क्षेत्र पुरातत्व विभाग के अधीन है। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र पठारी -2 कि.मी., ग्यारसपुर - 40 कि.मी., खुरई - 18 कि.मी., उदयपुर -20 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|
  7. जैन धर्मशाला (8 कमरे), किले अन्दर मो.: 09755832924, फोन : 07592 - 232222 आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस धर्मशाला के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस धर्मशाला में रुके है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|
  8. शीतल धाम (11 कमरे), हरिपुरा आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस धर्मशाला के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस धर्मशाला में रुके है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|
  9. जैन धर्मशाला (10 कमरे), स्टेशन के पास फोन : 07592 - 403290 आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस धर्मशाला के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस धर्मशाला में रुके है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|
  10. जैन भवन (12 कमरे), स्टेशन के पास मो.: 09827217402 आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस धर्मशाला के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस धर्मशाला में रुके है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|
  11.  

×
×
  • Create New...