Jump to content
JainSamaj.World

आज 16 सितम्बर की पहेली


Recommended Posts

धन्य धन्य है प्रभु की माता, इन्द्र भी जिनको शीश नवाता ।

सोलह स्वप्न कौन से भाई, देखे हैं तीर्थंकर माई ॥

17 September paheli

https://jainsamaj.vidyasagar.guru/forums/topic/636-आज-17-सितम्बर-की-पहेली/

 

Link to post
Share on other sites

ऐरावत हाथी, श्बेत बृषभ, सिहं के स्वप्न, हाथी के द्वारा परदो कलशों से स्नान करती हुई लक्ष्मी, दो पुष्प मालायें, अखण्ड चन्द्र बिम्व, उदय होता हुआ सूरज, मीन युगल, दो कनकमय पूर्व कलश, कमलों से सुशोभित सरोवर, गंभीर समुद्र, रत्नजड़ित सिहांसन, छोटी छोटी घंटिकाओंसे सुशोभित विमान, नागेन्द्र का भवन, प्रदीप्त पंचवर्णो के उत्मोतम रत्नों की राशि, निर्धूम अगिन

  बोबी जैन रेवाड़ी हरियाणा

  • Like 1
Link to post
Share on other sites

१-ऐरावत हाथी, २-सफेद बैल, ३-सिंह, ४-दो सफेद फूल, ५-सिंहासन पर लक्ष्मी, ६-पूर्ण चंद्रमा, ७-उदित सूर्य, ८-दो स्वर्ण कलश, ९-युगल मछली, १०-तालाब, ११-समुद्र, १२-स्वर्णमय सिंहासन, १३-रत्नमय विमान, १४-नाग भवन, १५-रत्न, १६-निर्धूम अग्नि।

  • Like 1
Link to post
Share on other sites

ऐरावत हाथी, 2 श्वेत उत्तम बैल, 3 सिंह, 4 माला युगल, 5 लक्ष्मी, 6 चन्द्रमा, 7 सूर्य, 8 कलश युगल 9 मीन युगल, 10 सरोवर, 11 समुद्र 12 सिंहासन 13 देवों का विमान, 14 नागेन्द्र 15 रत्न राशि एवं 16 धूम रहित अग्नि।

Link to post
Share on other sites

1.हाथी 2.सिंह 3. बैल 4. लक्ष्मी 5 सूर्य 6. चन्द्र 7. किलोल करती मछली 8. दो कलश 9. तालब 10. समुद्र 11. दो मालाये 12. सिहासन 13. निर्धूम आग्नि 14. विमान 15. नागेन्द्र भवन 16. रत्न राशि । 

Link to post
Share on other sites

1. Shwet hathi

2. Shwet vrashab

3. Shwet singh

4. Devi Lakshmi abhishek by 2 elephants

5. Two Mala 

6. Full moon 

7. Rising sun

8. Two gold kalash covered by kamal patra

9. Two fish in kamal lake 

10. A lake full of kamal 

11. High tides in the sea 

12. Ratno se jada singhasan 

13. Nagendra ka vimaan

14.swarg ka vimaan

15. Fire without fog

16. Ratno la dher 

 

Edited by Arham jain
Swapn ki details
Link to post
Share on other sites
4 hours ago, admin said:

धन्य धन्य है प्रभु की माता, इन्द्र भी जिनको शीश नवाता ।

सोलह स्वप्न कौन से भाई, देखे हैं तीर्थंकर माई ॥

1ऐरावत हाथी

2-श्वेत वृषभ

3 सिंह 

4हाथी के द्वारा दो केलशों से स्नान करती हुयी लक्ष्मी

5-दो पुष्प मालायें

6-अखण्ड चन्द्र बिम्ब

7 -उदय होता हुआ सूर्य

8- मीन युगल

9 - दो कनकमय पूर्ण कलश

10 - कमलों से सुशोभित सरोवर 

11-गम्भीर समुद्र 

12 - रत्नजडित सिंहासन 

13 -छोटी छोटी घंटिकाओ से सुशोभित विमान 

14 -नागेन्द्र का भवन

 15 - प्रदीप पंच वर्णो के उत्मोत्तम रत्नों की राशि

16 - निर्धूम अग्नि 

Link to post
Share on other sites

ऐरावत हाथी 2बैल3सिंह4लक्ष्मी5सफेद दोमाला6सूर्य7चंद्रमा8युगलमीन9दो पूर्ण कलश10कमल युक्तसरोवर11समुद्र12सिहासन13देवविमान14नागभवन15रत्नराशी16निर्धूम अग्नि

Link to post
Share on other sites
5 hours ago, admin said:

धन्य धन्य है प्रभु की माता, इन्द्र भी जिनको शीश नवाता ।

सोलह स्वप्न कौन से भाई, देखे हैं तीर्थंकर माई ॥

1 श्वेत हाथी 2 बैल 3 सिंह 4 लक्ष्मीजी 5 पुष्पमाला 6 चन्द्रमा 7 सूर्य 8 कुंभ कलश 9 दो मछली 10 पदम् सरोवर 11 क्षीर समुद्र 12 रतन जड़ित सिंहासन 13 देव विमान 14 धुआं रहित 15 रतनो के ढेर 16 नागेन्द्र विमान ।

Link to post
Share on other sites

माता के 16 स्वप्न-

1-अति विशाल श्वेत गज 

2-श्वेत बृषभ

3-श्वेत वर्ण सिंह

4-लक्ष्मी का अभिषेक करते युगल गज 

5-दो सुगंधित पुष्प मालाएं

6-पूर्ण चंद्रमा 

7-उदित होता सूर्य 

8-कमल पत्रों से ढके हुए दो स्वर्णमय कलश  

9-कमल सरोवर में क्रीड़ा करती युगल मीन 

10-कमलो से भरा जलाशय 

11- लहरें उछालता समुद्र 

12-हीरे मोती और रत्न जड़ित सिंहासन 

13-स्वर्ग का विमान 

14- नागेन्द्र विमान 

15-विशाल रत्न राशि

16-निर्धूम अग्नि

 

Link to post
Share on other sites
8 hours ago, admin said:

धन्य धन्य है प्रभु की माता, इन्द्र भी जिनको शीश नवाता ।

सोलह स्वप्न कौन से भाई, देखे हैं तीर्थंकर माई ॥

1 ERAVAT HATHI

2. Safed bail

3. Lion

4  do safed phul mala 

5 sihasan per laxmi 

6 chandra 

7 chamakta surya

8. Do swarna kalash 

9. Yugle machli 

10. Talab 

11. Samudhra 

12. Swarnamay sihasan 

13. Ratanmay viman 

14. Nagbhavan

15 ratan

16. Nirdhum agani 

     

Link to post
Share on other sites

A white elephant
A white bull
A white lion
Lakshmi
Mandara flowers
Silver moonbeams
The radiant sun
A jumping fish
A golden pitcher
A lake filled with lotus flowers
An ocean of milk
A celestial palace
A vase as high as Mount Meru filled with gems
A fire fed by sacrificial butter
A ruby and diamond throne
A celestial king ruling on earth

Link to post
Share on other sites

1 Aairavat haathi

2 Sinh

3 Rishabh

4 Kalash karti Laxmi

5 Do mala

6 Ugta Surya

7 Chandra 

8 Yugal meen

9 Do purna Kalash

10 Kamalyukta Sarovar

11 Samudra

12 Sinhasan

13 Dev Viman

14 Dharnendra Viman

15 Ratnarashi

16 Nirdhum Agni

Link to post
Share on other sites
11 hours ago, admin said:

धन्य धन्य है प्रभु की माता, इन्द्र भी जिनको शीश नवाता ।

सोलह स्वप्न कौन से भाई, देखे हैं तीर्थंकर माई ॥

1.  स्वप्न  : स्वप्न में एक अति विशाल श्वेत हाथी दिखाई दिया।
2. दूसरा स्वप्न : श्वेत वृषभ।
3. तीसरा स्वप्न : श्वेत वर्ण और लाल अयालों वाला सिंह
4. चौथा स्वप्न : कमलासन लक्ष्मी का अभिषेक करते हुए दो हाथी।
5. पांचवां स्वप्न : दो सुगंधित पुष्पमालाएं।
6. छठा स्वप्न : पूर्ण चंद्रमा।
7. सातवां स्वप्न : उदय होता सूर्य।  8.आठवां स्वप्न : कमल पत्रों से ढंके हुए दो स्वर्ण कलश।
9. नौवां स्वप्न : कमल सरोवर में क्रीड़ा करती दो मछलियां।
10. दसवां स्वप्न : कमलों से भरा जलाशय।
11. ग्यारहवां स्वप्न : लहरें उछालता समुद्र।
12. बारहवां स्वप्न : हीरे-मोती और रत्नजडि़त स्वर्ण सिंहासन।
13. तेरहवां स्वप्न : स्वर्ग का विमान।
14. चौदहवां स्वप्न : पृथ्वी को भेद कर निकलता नागों के राजा नागेन्द्र का विमान।
15. पन्द्रहवां स्वप्न : रत्नों का ढेर।

16. सोलहवां स्वप्न : धुआंरहित अग्नि।

Link to post
Share on other sites
11 hours ago, admin said:

धन्य धन्य है प्रभु की माता, इन्द्र भी जिनको शीश नवाता ।

सोलह स्वप्न कौन से भाई, देखे हैं तीर्थंकर माई ॥

1 ) सफेद हाथी, 2)सफेद बैल, 3)सफेद सिंह 4)कमलासन लक्ष्मी5) दो पुष्प माला 6)पूर्ण चद्रमा7) सुर्य 8)दो सुवर्ण कलश 9) दो मछलियां 10) कमल सरोवर 11) समुद्र 12) हिरे जडित सिहासन13) स्वर्ग. का विमान 14)नागेंद्र का विमान

Link to post
Share on other sites

(०१) ऐरावत हाथी 
(०२) शुभ्र बैल 
(०३) सिंह 
(०४) लक्ष्मी देवी 
(०५) दो फूूलमाता 
(०६) उदित होता हुआ सूर्य 
(०७) तारावलि से वेष्ठित पूर्ण चन्द्रमा 
(०८) जल में तैरती हुई मछलियों का युग्म 
(०९) कमल से ढके दो पूर्ण स्वर्ण कलश 
(१०) सरोवर 
(११) समुद्र 
(१२) सिंहासन 
(१३) देवविमान 
(१४) धरणेन्द्र विमान 
(१५) रत्नों की राशि 
और 
(१६) निर्धूम अग्नि ये सोलह स्वप्न हैं।

Link to post
Share on other sites

ऐरावत हाथी, 2 श्वेत उत्तम बैल, 3 सिंह, 4 माला युगल, 5 लक्ष्मी, 6 चन्द्रमा, 7 सूर्य, 8 कलश युगल 9 मीन युगल, 10 सरोवर, 11 समुद्र 12 सिंहासन 13 देवों का विमान, 14 नागेन्द्र 15 रत्न राशि एवं 16 धूम रहित अग्नि।

Link to post
Share on other sites

1. Airawat haathi

2. Safed bell

3. Seeh 

4. Do safed phool mala

5. Sinhasan par lakshmi

6. Chandra

7. Chamakta surya

8. Swarna kalash

9. Yugal machli

10. Talaab

11. Samudra

12. Swarnamay sinhasan

13. Ratnamay vimaan

14. Naag bhavan

15. Ratna

16. Nirdhum agni 

Link to post
Share on other sites
  • admin locked this topic
Guest
This topic is now closed to further replies.
  • अपना अकाउंट बनाएं

    • कमेंट करने के लिए लोग इन करें 
    • विद्यासागर.गुरु  वेबसाइट पर अकाउंट हैं तो लॉग इन विथ विद्यासागर.गुरु भी कर सकते हैं 
    • फेसबुक से भी लॉग इन किया जा सकता हैं 

     

×
×
  • Create New...