Jump to content
Sign in to follow this  
admin

श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र जैन काशी, मूड़बद्री दक्षिण कन्नड

Recommended Posts

moodbadri.jpg

अतिशय क्षेत्र मूड़बिद्री कर्नाटक

नाम एवं पता - श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र जैन काशी, मुड़बिदी। ग्राम-प्रन्थ्या, तहसील-मूडबिद्री, जिला दक्षिण कन्नड (कर्नाटक) पिन-574227 www.jainkashi.com, email : jainkashi@yahoo.com/hotmail.com

टेलीफोन - 08258 - 236318, 236418, 325105

 

क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ

आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - 30, कमरे (बिना बाथरूम) - 20,  हाल-5+2+2 (यात्री क्षमता 15+100+50), गेस्ट हाऊस - 4, (2 गेस्ट हाउस में वातानुकूलित सुविधाएं उपलब्ध) यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 500 ।

भोजनशाला - है, अनुरोध पर सशुल्क (निर्धन के लिए नि:शुल्क)

औषधालय - है।

पुस्तकालय - है, पुस्तके -11000, शास्त्र - 4500

विद्यालय - है।

 

आवागमन के साधन

रेल्वे स्टेशन - 1. पुराना रेल्वे स्टेशन-अत्तावरा-मेंगलूर - 38 कि.मी. एवं 2. नया रेल्वे स्टेशन-कनकनाड़ी-मेंगलूर- 36 कि.मी.

बस स्टेण्ड - मूडबिद्री - आधा कि.मी.

पहुँचने का सरलतम मार्ग - मंगलूर से - 38 कि.मी., शोलापुर - राष्ट्रीय राजमार्ग क्र. 13, कारकल - वेणूर के मध्य 18 कि.मी.

निकटतम प्रमुख नगर - मेंगलूर -38 कि.मी., (दक्षिण-पश्चिम), उडुपी -50 कि.मी., बाजपेयी विमानतल-28 कि.मी.

 

प्रबन्ध व्यवस्था 

संस्था - श्री दि. जैन मठ, हेड-ऑफिस 18 जैन मंदिर, मूड़बिद्री

मैनेजिंग ट्रस्टी - परमपूज्य स्वस्ति श्री भट्टारक चारूकीर्ति स्वामीजी (08258 - 236318)

ट्रस्टी - 

  1. श्री पी.सुधेश (08258 - 236418)
  2. श्री एस.एन. दिवाकर (08258-236277)
  3. श्री अबुईथ (08258-237000) प्रबन्धक श्री बी.चन्द्रराज (08258 - 236418/238925, 325105) एवं श्री रवीराज शेट्टी

 

क्षेत्र का महत्व

क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 18

क्षेत्र पर पहाड़ -  है, 8 कि.मी. की दूरी पर पर्वत है। दारेगुड्डे-6 कि.मी. कोनेज पर्वत

ऐतिहासिकता - जैन काशी के नाम से विख्यात मूड़बिद्री के 18 मंदिरों में अत्यन्त प्राचीन एवं मनोज्ञ प्रतिमाएँ हैं। 29 स्फटिक मणि की प्रतिमाएँ हैं। हीरा, पन्ना आदि की 35 मूर्तियाँ हैं। मठ में भी प्राचीन रत्नों की प्रतिमाएँ हैं। हजार खम्बों वाला मंदिर, सिद्धान्त दर्शन व धवलत्रय (धवला, जयधवला, महाधवला) आगम ग्रंथों की यहाँ जैनमठ के भंडार में उपलब्धि विशेष उल्लेखनीय है।

विशेष मेले या विशेष आयोजन की तिथियाँ - महावीर जयन्ति पर रथोत्सव

 

समीपवर्तीतीर्थक्षेत्र

कारकल - 18 कि.मी., वेणूर - 17 कि.मी., धर्मस्थल -51 कि.मी., हॅमचा - 143 कि.मी., श्रवणबेलगोला -238 कि.मी., श्री कृष्ण मंदिर एवं अष्ठमठ - उड्पी -50 कि.मी.,

आपका सहयोग :जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|

Share this post


Link to post
Share on other sites
Sign in to follow this  

×
×
  • Create New...