Jump to content
Sign in to follow this  

About This Club

जैन समाज वाराणसी

Category

Regional Samaj

Jain Type

Digambar
Shwetambar

Country

Bharat (India)

State

Uttar Pradesh
  1. What's new in this club
  2. कल्याणक क्षेत्र सिंहपुरी (सारनाथ) नाम एवं पता - श्री दिगम्बर जैन पार्श्वनाथ तीर्थक्षेत्र, सिंहपुरी, 20/46,भेलूपुर, ग्राम-सारनाथ, जिला-वाराणसी (उत्तरप्रदेश)पिन-221010 टेलीफोन - सारनाथ - मो. : 09305686021 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - हाल - 3 (यात्री क्षमता - 120), गेस्ट हाऊस - शासकीय यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 250. भोजनशाला - नहीं औषधालय - है। एस.टी.डी./पी.सी.ओ.- है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - वाराणसी केन्ट - 10 कि.मी. बस स्टेण्ड - वाराणसी केन्ट - 10 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - वाराणसी केन्ट - पाण्डेपुर - आशापुर - सारनाथ निकटतम प्रमुख नगर - वाराणसी - 14 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री दिगम्बर जैन समाज, काशी अध्यक्ष - श्री चन्द्रभान जैन (0542 - 2392020) महामंत्री - श्री अरुणकुमार जैन (0542 - 2276920) मंत्री - श्री राकेश जैन, वाराणसी (0542 - 2221212) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 01 क्षेत्र पर पहाड़ - नहीं ऐतिहासिकता - भगवान श्रेयांसनाथ के गर्भ, जन्म, तप व केवलज्ञान कल्याणक यहाँ सम्पन्न हुए थे। सारनाथ गौतम बुद्ध के प्रथम उपदेश के लिये जाना जाता है। जैन मन्दिर के पास 2200 वर्ष पुराना स्तूप है जिसकी ऊँचाई 33 मीटर है। अनेक लोग इसे जैन स्तूप मानते हैं। वार्षिक मेला - यहाँ प्रतिवर्ष फाल्गुन कृष्णा 11 व श्रावण शुक्ला 15 को मेला लगता है। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र भेलूपुर - 14 कि.मी., भदैनी घाट - 15 कि.मी., चन्द्रपुरी - 15 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  3. कल्याणक क्षेत्र चन्द्रावतीजी नाम एवं पता - श्री चन्द्रावतीजी दिगम्बर जैन तीर्थ क्षेत्र, चन्द्रावतीजी पोस्ट - चन्द्रपुरी, जिला - वाराणसी (उत्तरप्रदेश) टेलीफोन - 0542 - 2615316 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम)- 2, कमरे (बिना बाथरूम) - 10, हाल - 1 (यात्री क्षमता - 25) यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 100. भोजनशाला - नहीं। औषधालय - है (होम्योपैथिक) एस.टी.डी./पी.सी.ओ.- है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - वाराणसी - 20 कि.मी. बस स्टेण्ड - चन्द्रपुरी - 1 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - वाराणसी से बस अथवा टेक्सी द्वारा निकटतम प्रमुख नगर - वाराणसी -20 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री चन्द्रावती दिगम्बर जैन तीर्थ क्षेत्र अध्यक्ष - श्री अजयकुमार जैन (093343 96920) प्रबंध-न्यासी - श्री प्रशान्तकुमार जैन, आरा (०94314 9369) प्रबन्धक - श्री मक्खनलाल जैन (0542 - 2615316) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 01 क्षेत्र पर पहाड़ - नहीं ऐतिहासिकता - भगवान चन्द्रप्रभु के जन्म, तप एवं ज्ञान कल्याणक स्थली । क्षेत्र सुरम्य गंगातट पर चन्द्रावती गढ़ के भग्नावशेषों के बीच स्थित है। क्षेत्र पर चैत्र कृष्णा 5 को वार्षिक मेला लगता है। विशेष जानकारी - गंगा किनारे स्थित यह क्षेत्र भारत सरकार के पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग द्वारा संरक्षित क्षेत्र घोषित है। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र श्रीभदैनीजी-22 कि.मी., श्री भेलूपुरजी -21 कि.मी., श्री सिंहपुरीजी - 18 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  4. कल्याणक क्षेत्र भेलूपुर-वाराणसी नाम एवं पता - श्री पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र, भेलूपुर, वाराणसी (उत्तरप्रदेश) पिन - 221010 टेलीफोन - 0542 - 2275892, 094153 43022, 093692 53642 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम)- 72 , कमरे (बिना बाथरूम) - 4 हाल - 7, गेस्ट हाऊस - X यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 1000. भोजनशाला - नियमित, सशुल्क औषधालय - है। पुस्तकालय - है। एस.टी.डी./पी.सी.ओ. - है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - वाराणसी केन्ट - 4 कि.मी. बस स्टेण्ड - केन्ट रोडवेज़ पहुँचने का सरलतम मार्ग - स्टेशन से लंका मार्ग निकटतम प्रमुख नगर - वाराणसी में ही है। प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र कमेटी, भेलूपुर अध्यक्ष - श्री चन्द्रभान जैन (0542-2401602,2401608,2392020) महामंत्री - श्री अरूणकुमार जैन (0542-2420219, 09415343022) मंत्री - श्री संजय जैन क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 11 क्षेत्र पर पहाड़ - नहीं ऐतिहासिकता - यहाँ भगवान पार्श्वनाथजी के गर्भ, जन्म एवं तप कल्याणक हुए। वाराणसी का प्राचीन नाम काशी है। यहीं पर स्वामी समंतभद्र ने तपस्या की और 'स्वयंभू स्तोत्र का पाठ कर भीम लिंग से चन्द्रप्रभु की सुन्दर मूर्ति प्रकट की थी। यहीं उन्होंने अपना भस्मक रोग शांत कर पुन: दिगम्बर दीक्षा ली एवं धर्म की प्रभावना की। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र एवं दर्शनीय स्थल सिंहपुरी, चन्द्रपुरी, अनेक जैन मन्दिर, स्याद्वाद महाविद्यालय गंगा तट के घाट, विश्वनाथ मन्दिर,दुर्गा मन्दिर, तुलसी मानस मन्दिर, भारत कला मन्दिर, भारत माता मन्दिर, बिड़ला मन्दिर आदि। आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  5. कल्याणक क्षेत्र भदैनीजी (वाराणसी) नाम एवं पता - श्री भदैनीजी दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र, भदैनीजी (वाराणसी), प्रमुदास जैन घाट,ग्राम-भदैनी, पो.-शिवाला, जिला-वाराणसी (उत्तरप्रदेश) 221 001 टेलीफोन - 0542 - 2275756, 094503 74932 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - यात्री सुविधाएं भेलूपुर में उपलब्ध है। हाल -- 1 (यात्री क्षमता - 50), गेस्ट हाऊस - 1 यात्री ठहराने की कुल क्षमता -- 100. भोजनशाला - अनुरोध पर, सशुल्क औषधालय - है। पुस्तकालय - है। विद्यालय - है। एस.टी.डी./पी.सी.ओ.- है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - वाराणसी - 5 कि.मी. बस स्टेण्ड - वाराणसी - 2 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - वाराणसी पहुँचकर सड़क से 2 कि.मी. दूर निकटतम प्रमुख नगर - वाराणसी में ही है। प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री दिगम्बर जैन तीर्थ क्षेत्र, भदैनी प्रबन्धकारिणी कमेटी अध्यक्ष - श्री अजय कुमार जैन, आरा (०93343 96920) प्रबंध-न्यासी - श्री प्रशांत कुमार जैन, आरा (094314 19369) प्रबन्धक - श्री सुरेन्द्रकुमार जैन (094503 74932) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 02 क्षेत्र पर पहाड़ - नहीं ऐतिहासिकता - सातवें तीर्थंकर भगवान सुपार्श्वनाथ की गर्भ, जन्म, तप एवं ज्ञान कल्याणकस्थली। विशेष जानकारी - वाराणसी के सुरम्य गंगा तट पर श्री प्रभुदास जैन घाट पर स्थित। श्री स्याद्वाद महाविद्यालय एवं श्री अकलंक सरस्वती पुस्तकालय एवं छात्रावास भी संचालित है। समीपवर्तीतीर्थक्षेत्र भेलूपुर - 2 कि.मी., चन्द्रपुरी-30 कि.मी., सिंहपुरी सारनाथ- 15 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  6.  
×
×
  • Create New...