Jump to content
Sign in to follow this  

About This Club

जैन समाज ललितपुर

Category

Regional Samaj

Jain Type

Digambar
Shwetambar

Country

Bharat (India)

State

Uttar Pradesh
  1. What's new in this club
  2. अतिशय क्षेत्र शान्तिगिरि (मदनपुर) नाम एवं पता - श्री दिगम्बर जैन अतिशयकारी सिद्ध क्षेत्र शान्तिगिरि, मदनपुर, ग्राम-मदनपुर, पोस्ट-डिडोनिया, तहसील-मंडावरा, जिला-ललितपुर (उ.प्र.)-284404 टेलीफोन - 07683 - 242592, 094256 66708 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (बिना बाथरूम) - 2 कमरे (अटेच बाथरूम) - 10, गेस्ट हाऊस - 1(शासकीय) यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 100. भोजनशाला - अनुरोध पर, सशुल्क औषधालय - है आयुर्वेदिक पुस्तकालय - है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - सागर - 55 कि.मी. बस स्टेण्ड - मदनपुर - 1.5 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - ललितपुर रेल्वे स्टेशन से महरौनी, मडावरा, मदनपुर। सागर, झांसी, ललितपुर से नियमित बस सेवा उपलब्ध। निकटतम प्रमुख नगर - सागर - 55 कि.मी., ललितपुर - 65 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री दि. जैन अतिशय क्षेत्र शान्तिगिरि मदनपुर प्रबन्धकारिणी कमेटी संस्थापक एवं ट्रस्ट महामंत्री - पं. विमलकुमार जैन, सरया, प्रतिष्ठाचार्य, टीकमगढ़ दूरभाष 07683 - 242592, 094256 66708 क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 9 (8 पहाड़ पर - 1 गाँव में) क्षेत्र पर पहाड़ - है - पहाड़ पर 0.5 कि.मी. की चढ़ाई है, सीढ़ियाँ नहीं है। ऐतिहासिकता - यह 9 वीं से 12 वीं शताब्दी तक की वास्तुकला का जीता जागता दर्शन है। इस क्षेत्र में पाषाण कला के अवशेष एवं क्षेत्र की भूमि में अनेक धातुओं के भंडार हैं। वार्षिक जानकारी : क्षेत्र देवगढ़ अहारजी आदि के समकालीन है तथा उसी कला की खड्गासन शान्तिनाथ भगवान की प्रतिमाएँ हैं। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र गिरारगिरिजी - 45 कि.मी., पिडरूवाजी - 30 कि.मी., बानपुर -50 कि.मी. ऋषभदेव तीर्थस्थल संग्रहालय सीरोनजी - 28 कि.मी., देवगढ़-80 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  3. अतिशय क्षेत्र सीरौनजी (मड़ावरा) नाम एवं पता - श्री 1008 भगवान ऋषभदेव दि. जैन अतिशय तीर्थक्षेत्र, सीरौनजी मड़ावरा ग्राम एवं त. -मंडावरा, जिला-ललितपुर (उ.प्र.) पिन-284404 टेलीफोन - 05172 - 230238, 09956536687, 094500 32173 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - 5, कमरे (बिना बाथरूम) - 5 हाल - 2, गेस्ट हाऊस - 1 यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 250. अन्य : स्वागत कक्ष, कार्यालय, ट्यूब-वेल, हेण्डपम्प भोजनशाला - नहीं पुस्तकालय - है। विद्यालय - महावीर बाल संस्कार केन्द्र एस.टी.डी./ पी.सी.ओ.- है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - ललितपुर - 65 कि.मी. बस स्टेण्ड - मड़ावरा - 8 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - मडावरा से सीरौनजी क्षेत्र व्हाया हसरी ग्राम - 8 कि.मी. निकटतम प्रमुख नगर - ललितपुर - 65 कि.मी., मड़ावरा से पश्चिम दिशा में ललितपुर शहर है। प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री भ.ऋषभदेव दि.जैन अतिशय तीर्थ क्षेत्र, सीरौनजी मड़ावरा प्रबन्ध समिति संरक्षक - डॉ. विधीचन्द जैन (230232, 09451170107) अध्यक्ष - डॉ. राकेश जैन सिंघई (094500 32713, 099565 36687) महामंत्री - श्री निलेशकुमार जैन (094500 32697, 087956 01077) मंत्री - श्री आकाश जैन, बम्होरी (099500 36058) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 01 (जीर्ण हाल में) क्षेत्र पर पहाड़ - नहीं, मंडावरा नगर में 10 भव्य जिनालय हैं। ऐतिहासिकता - पुरातत्व, कलाकृति, ऐतिहासिक जैन मूर्ति सम्पदा का महान अद्वितीय धरोहर एवं संस्कृति का केन्द्र है। भूगर्भ से सीरौन ग्राम में यत्र-तत्र जैन संस्कृति के चिन्ह आज भी प्राप्त हो रहे हैं। विशेष जानकारी - भा. दि. जैन तीर्थ क्षेत्र कमेटी, मुम्बई से सम्बद्धता प्राप्त। श्री भा. दि. जैन तीर्थसंरक्षिणी महासभा लखनऊ के अन्तर्गत विशाल संग्रहालय है। श्री महावीर बाल संस्कार केन्द्र संचालित है। वार्षिक मेला - मकर संक्रांति: 14 जनवरी प्रतिवर्ष श्री महावीर बालसंस्कार केन्द्र, सीरोनजी वार्षिक उत्सव - बसंत पंचमी। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र गिरारगिरि - 17 कि.मी., मदनपुर - 20 कि.मी., कारीटोरनजी - 20 कि.मी., बानपुर - 40 कि.मी., नवागढ़ - 30 कि.मी., श्री देवगढ़जी, सेरौनजी, पावागिरि, चन्देरी, खन्दारगिरि, अहारजी स्थायी संपर्क सूत्र अध्यक्ष डॉ. राकेश सिंघई, सिंघई क्लीनिक, मडावरा जि. ललितपुर (उ.प्र.) 05172-230291,230238,9956536687 आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  4. अतिशय एवं कला क्षेत्र सेरोनजी नाम एवं पता - श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र शांतिनाथ, सेरोनजी, ग्राम - सेरोनकलाँ, तहसील एवं जिला - ललितपुर (उत्तरप्रदेश) टेलीफोन - 09455173473 (सतीश जैन), 094500 37176 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - 3 कमरे (बिना बाथरूम) - 20 हाल -7 गेस्ट हाऊस - 1 यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 500. भोजनशाला - है, अनुरोध पर, सशुल्क औषधालय - है। पुस्तकालय - है। विद्यालय - है। अन्य - श्री शांतिनाथ बाल संस्कार केन्द्र चल रहा है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - ललितपुर - 22 कि.मी. बस स्टेण्ड - ललितपुर - 20 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - ललितपुर से निजी वाहन, ऑटो, टैक्सी की सुविधा। ललितपुर - मनगुंवा मोटर मार्ग से 3 कि.मी.।। निकटतम प्रमुख नगर - ललितपुर - 20 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र सेरोनजी प्रबन्ध समिति अध्यक्ष - श्री हीरालाल खजुरिया, सरायपुरा (05176 - 272584) मंत्री - मा. गुलाबचन्द जैन, आजादपुरा, ललितपुर (05176-274707) कोषाध्यक्ष - श्री बाबूलाल बरौदा, सिविल लाइन, ललितपुर (09450037176) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 18 क्षेत्र पर पहाड़ - नहीं ऐतिहासिकता - श्री दि. जैन अतिशय क्षेत्र सेरोनजी 9 वीं से 12 वीं शताब्दी का प्राचीनतम क्षेत्र है। यहाँ पर कुछ खंडित प्रतिमाएँ एवं सहस्रों जिन प्रतिमाएँ हैं। 1008 भगवान श्री शान्तिनाथ मूलनायक की 18 फीट ऊँची चमत्कारपूर्ण वीतराग प्रतिमा है। क्षेत्र पर प्राचीन मूर्ति कला एवं प्राचीन मूर्तियों के संरक्षण हेतु विशाल संग्रहालय स्थित है। वार्षिक मेले - मिति चैत्रवदी 8,9,10 समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र चन्देरी - 27 कि.मी., पावागिरि - 35 कि.मी., बानपुर - 35 कि.मी., देवगढ़ - 55 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  5. सिद्ध क्षेत्र पावागिरिजी नाम एवं पता - श्री 1008 दिगम्बर जैन सिद्धक्षेत्र, पावागिरिजी, ग्राम-पावा, तहसील-तालबेहट, जिला-ललितपुर (उत्तरप्रदेश) पिन-284 126 टेलीफोन - मो.: 09936762685 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - 41,कमरे (बिना बाथरूम) - 34, हाल - 5 (यात्री क्षमता - 1000), ए. सी. रूम - 5 यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 1500. भोजनशाला - नियमित एवं औषधालय - है, आयुर्वेदिक पुस्तकालय - है, पुस्तकें - 1000 एस.टी.डी./ पी.सी.ओ.- है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - तालबेहट - 10 कि.मी., बबीना - 25 कि.मी. बस स्टेण्ड - पावागिरिजी - 3 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - तीर्थ क्षेत्र के वाहन द्वारा तालबेहट से व्हाया कड़ेसरा कलाँ निकटतम प्रमुख नगर - तालबेहट - 10 कि.मी. एवं बबीना केंट 25 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - प्रबंधकारिणी समिति, पावागिरिजी, पावा अध्यक्ष - श्री ज्ञानचन्द्रजी जैन, बबीना(094155 90646) मंत्री - श्री जयकुमार जैन कंधारी कला (०96512 97566) प्रबन्धक - श्री संतोषकुमार जैन (०99367 62685) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 15 क्षेत्र पर पहाड़ - पहाड़ पर जाने के लिए 100 सीढ़ियाँ है। ऐतिहासिकता - यहाँ पर 13 वीं, 14 वीं शताब्दी की मनोज्ञ मूर्तियाँ एवं तीन नवीन जिनालय हैं। विद्वानों के मतानुसार स्वर्णभद्र आदि मुनि यहाँ से मोक्ष गये। क्षेत्र के पीछे पहाड़ी पर ही स्वर्णभद्र आदि चार मनियों की चरण छत्रियाँ हैं तथा क्षेत्र के आदिष्ट देव श्री भूरे बाबाजी (व्यंतर देव) की गुफा है। वार्षिक मेला - अगहन वदी दूज से पंचमी तक वार्षिक मेला लगता है। प्रत्येक माह की 15 तारीख को भूरे बाबाजी (व्यंतर देव) का दरबार लगता है। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र देवगढ़ - 85 कि.मी., सेरोनजी व्हाया-जखौरा - 45 कि.मी., चंदेरी व्हाया- राजघाट-70 कि.मी., थुबोनजी -85 कि.मी., करगुवाँ - 55 कि.मी., सोनागिरिजी (वाया-झाँसी)- 100 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  6. अतिशय क्षेत्र नवागढ़ (नन्दपुर) नाम एवं पता - श्री दि. जैन अतिशय क्षेत्र, नवागढ़, ग्राम - नावई, पो. सोजना, तहसील - महरौनी, जिला-ललितपुर (उ.प्र.)-284405 टेलीफोन - कार्यालय - 097943 19739, 097943 19739 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - 6, कमरे (बिना बाथरूम) - 13 हाल - 1 (यात्री क्षमता-50) यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 200 भोजनशाला - है, अनुरोध पर निःशुल्क वृती आश्रम, संत निवास - है। औषधालय - प्रस्तावित पुस्तकालय - है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - झांसी 130 कि.मी., ललितपुर 60 कि.मी.,टीकमगढ़ से व्हाया डूडा 30 कि.मी., बस स्टेण्ड - सोजना मैनवार 4 कि.मी., पहुँचने का सरलतम मार्ग - ललितपुर, व्हाया, महरौनी, सोजना होकर नवागढ़। झांसी से टीकमगढ़ अजनौर डूंडा होकर नवागढ़। टीकमगढ़, से वाहन सेवा उपलब्ध निकटतम प्रमुख नगर - ललितपुर (उ.प्र.)-60 कि.मी., टीकमगढ़ (म.प्र.)-30 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री दि. जैन अतिशय क्षेत्र कमेटी, नवागढ़ क्षेत्र संरक्षक - श्री गजराज गंगवाल, दिल्ली । निर्देशक - ब्र. जयकुमार ‘निशांत' (09425141697) अध्यक्ष - श्री सिंघई हीरालाल जैन (089599 38651) मंत्री - श्री सनत कुमार जैन, अधिवक्ता (094500 32409) कोषाध्यक्ष - श्री सेठ दयाचन्द जैन (094251 45675) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 03, वेदी संख्या 5, मानस्तंभ 1, चरण - 26 क्षेत्र पर पहाड़ - लघु पहाड़ी ऐतिहासिकता - भगवान अरहनाथ की 12वीं सदी की प्राचीन खड्गासन 4 फुट -6 इंच उंचाई की भौंहरे में महिचंद्र पुत्र देल्हण द्वारा स्थापित अतिशयकारी मूर्ति विराजमान है। विशाल संग्रहालय में पुरातत्त्व विभाग में रजिस्टर्ड शताधिक प्राचीन संस्कृति को सुरक्षित किया गया है, जिसमें संवत् 1203 के मानस्तम्भ एवं प्रतिमाएं भी है। बहुत सी प्राचीन प्रतिमायें एवं अनेक कलात्मक सामग्री उपलब्ध है। वार्षिक मेला - प्रति वर्ष चैत्रकृष्ण अमावस्या भगवान अरहनाथ के मोक्ष कल्याणक को 3 दिन का मेला लगता है। विशेष - क्षेत्र से 3 कि.मी. दूरी पर प्राचीन गुफाएँ जो संतों की प्राचीन साधना स्थली हैं। शैलाश्रम एवं प्रागैतिहासिक शैल चित्र विशेष दर्शनीय हैं। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र अहारजी-50 कि.मी., पपौराजी-25 कि.मी., द्रोणागिरि-45 कि.मी., बंधाजी - 65 कि.मी., बानपुर - 35 कि.मी., बड़ागांव-10 कि.मी., देवगढ़-100 कि.मी., नैनागिरि -70 कि.मी. 24 आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  7. अतिशय क्षेत्र कारीटोरन नाम एवं पता - श्री शांतिनाथ दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र, कारीटोरन, ग्राम-कारीटोरन, तहसील-महरौनी, जिला-ललितपुर (उत्तरप्रदेश) पिन-284 404 टेलीफोन - 09198030652 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम) - ४ , कमरे (बिना बाथरूम) - ४ हाल - 3 (यात्री क्षमता - 50), गेस्ट हाऊस - ४ यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 100. भोजनशाला - नहीं आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - ललितपुर -70 कि.मी. बस स्टेण्ड - कारीटोरन । पहुँचने का सरलतम मार्ग - ललितपुर से महरौनी होते हुए। शाम 5 बजे कारीटोरन हेतु बस उपलब्ध है। निकटतम प्रमुख नगर - महरौनी - 35 कि.मी., ललितपुर - 70 कि.मी. । प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री शांतिनाथ दि. जैन अतिशय क्षेत्र प्रबन्धकारिणी कमेटी अध्यक्ष - डॉ. विजयकुमार जैन (091980-30652) मंत्री - श्री संतोषकुमार जैन (09794936791) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 03, अष्ट भुजाकार मान स्तंभ एवं सहस्त्रकूट जिनालय क्षेत्र पर पहाड़ - नहीं ऐतिहासिकता - कारीटोरन में तीन भव्य मंदिर हैं जिनमें से प्रमुख मन्दिर बारहवीं सदी में निर्मित किया गया था एवं इसमें भगवान शान्तिनाथ, कुन्थुनाथ एवं अरहनाथ की प्रतिमाएँ क्रमश: 7 फुट एवं 5.5 फीट खड्गासन की है। विशेष जानकारी : (1) क्षेत्र अखिल भारतीय तीर्थ क्षेत्र कमेटी मुम्बई से सम्बद्ध है। (2) क्षेत्र पर स्वनाम धन्य क्षुल्लक श्री गणेशप्रसादजी वर्णी 2 माह तक अपनी साधना करते रहे एवं जैन पाठशाला चलाई। उन्होंने इसे एक अच्छा साधना क्षेत्र बताया। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र गिरारगिरि-16 कि.मी., मदनपुर -40 कि.मी., नवागढ़-20 कि.मी., बड़ागाँव-30 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  8. अतिशय क्षेत्र गिरारगिरिजी नाम एवं पता - श्री 1008 दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र, गिरारगिरिजी, ग्राम - गिरार तह.- महरौनी, जिला - ललितपुर (उ.प्र.) पिन - 284 404 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम)- 10, कमरे (बिना बाथरूम) - 12, हाल - 2 (यात्री क्षमता - 50), गेस्ट हाऊस - 1 यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 200. भोजनशाला - है, सशुल्क औषधालय - नहीं पुस्तकालय - नहीं । विद्यालय - आश्रम है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - सागर - 75 कि.मी., ललितपुर - 75 कि.मी. बस स्टेण्ड - है - गिरारगिरि पहुँचने का सरलतम मार्ग - सागर से बरायठा बस से, बरायठा से गिरारगिरि पैदल, ललितपुर से बस द्वारा सीधे गिरारगिरि - 70 कि.मी. निकटतम प्रमुख नगर - मडावरा - 17 कि.मी., बरायठा - 3 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र प्रबंधकारिणी कमेटी ट्रस्ट, गिरारगिरि अध्यक्ष - श्री कपूरचन्दजी घुवारा, टीकमगढ़ (09425880545) उपाध्यक्ष - श्री कोमलचन्दजी वरायठा। मंत्री - श्री सेठ विमल कुमारजी, वरायठा क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 05 मंदिर एवं 1 मानस्तंभ है। क्षेत्र पर पहाड़ - है। पहाड़ पर चरण है, 1500 सीढ़ियाँ है। ऐतिहासिकता - 200 वर्ष प्राचीन मंदिर है। दो पहाड़ों के मध्य क्षेत्र पर स्थित है। मूलनायक भगवान आदिनाथ है। दो मंदिर में पार्श्वनाथ भगवान, 1 मंदिर में चंद्रप्रभु भगवान तथा 1 मंदिर में शांतिनाथ भगवान की मूलनायक प्रतिमाएं है। यह क्षेत्र म.प्र. और उ.प्र. की सीमा पर है। धसान नदी के किनारे स्थित है। अयोजन की तिथि - माधवदी 14 को आदिनाथ भगवान के जन्मोत्सव पर समीपवर्तीतीर्थक्षेत्र मदनपुरजी - 37 कि.मी., कारीटोरन - 14 कि.मी., (उत्तर दिशा) सेरोनजी -27 कि.मी., (पश्चिम दिशा), नैनागिरि-60 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  9. अतिशय/ऐतिहासिक क्षेत्र देवगढजी नाम एवं पता - श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र, देवगढ़जी, ग्राम-देवगढ़, तहसील एवं जिला-ललितपुर (उत्तरप्रदेश) पिन-284 403 टेलीफोन - 05176 - 276311 (महामंत्री-का.), 282533 (क्षेत्र), 099184 54768 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे(अटैच बाथरूम)-15, कमरे(बिना बाथरूम)- 20, हाल - 3(यात्री क्षमता -200), गेस्ट हाऊस -2 चीतल विश्राम गृह (पर्यटन विभाग) यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 350. भोजनशाला - है, अनुरोध पर, सशुल्क औषधालय - है, आयुर्वेदिक पुस्तकालय - है, विद्यालय - नहीं एस.टी.डी./ पी.सी.ओ.- है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - ललितपुर - 33 कि.मी., जाखलौन - 11 कि.मी. बस स्टेण्ड - देवगढ़ - ललितपुर - 33 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - ललितपुर से सड़क मार्ग द्वारा पहुँचा जा सकता है। निकटतम प्रमुख नगर - ललितपुर - 33 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री देवगढ़ मैनेजिंग दिगम्बर जैन कमेटी, ललितपुर अध्यक्ष - श्री चम्पालाल जैन, नौहरकलाँ वाले (05176-272195) महामंत्री - श्री मुरारीलाल जैन, अधिवक्ता (05176 - 272146) प्रबन्धक - श्री राजेन्द्र कुमार जैन (05176-282533, 09918454768) कोषाध्यक्ष - श्री कमलेश सर्राफ (274782) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 40 मंदिर है, 29 मानस्तम्भ है। क्षेत्र पर पहाड़ - है। धर्मशाला से 1.5 कि.मी. है, वाहन जाते है। ऐतिहासिकता - देवगढ़ गुप्तकाल एवं उसके परिवर्ती गुर्जर, प्रतिहार, चन्देल कालीन शिल्प सौन्दर्य का अद्भुत संगम है। देवगढ़ के जैन मन्दिर पुरातत्व तथा जैन कला का महत्वपूर्ण स्थल है। इतनी संख्या में प्राचीन मूर्तियाँ एवं मन्दिर भारत में अन्य स्थलों पर नहीं है। अन्य जानकारी - धर्मशाला परिसर में एक मंदिर है एवं साहू जैन संग्रहालय है। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र चन्देरी - 68 कि.मी., सेरोनजी -51 कि.मी., चांदपुर -22 कि.मी., खजुराहो - 200 कि.मी., पपौराजी-95 कि.मी., अहारजी, थुबोनजी, तालबेहट-60 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  10. अतिशय क्षेत्र बानपुर नाम एवं पता - श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र, बानपुर, ग्राम - बानपुर तह.- महरौनी, जिला - ललितपुर (उ.प्र.) पिन-284 402 टेलीफोन - 096700 96220, 094541 25500 क्षेत्र पर उपलब्ध सुविधाएँ आवास - कमरे (अटैच बाथरूम)- 6, कमरे (बिना बाथरूम) - 6, हाल - 2 (यात्री क्षमता - 150) यात्री ठहराने की कुल क्षमता - 250. भोजनशाला - सशुल्क पुस्तकालय - है। विद्यालय - है। एस.टी.डी./ पी.सी.ओ.- है। अन्य - वर्ष भर पाठशाला चलती है। आवागमन के साधन रेल्वे स्टेशन - ललितपुर - 32 कि.मी. बस स्टेण्ड - बानपुर से क्षेत्र - 1 कि.मी., महरोनी से - 13 कि.मी. पहुँचने का सरलतम मार्ग - ललितपुर से टीकमगढ़, महरौनी बस एवं टेम्पो द्वारा टीकमगढ़ से बस द्वारा 11 कि.मी., महरौनी से 13 कि.मी. निकटतम प्रमुख नगर - ललितपुर - 32 कि.मी., टीकमगढ़ - 11 कि.मी. प्रबन्ध व्यवस्था संस्था - श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र बानपुर कमेटी अध्यक्ष - श्री वीरेन्द्र कुमार सिंघई, बानपुर (05172-240175) संरक्षक - श्री चौधरी राजकुमार जैन (096700 96220) महामंत्री - श्री चौधरी अखिलेश कुमार जैन (094541 25500) क्षेत्र का महत्व क्षेत्र पर मन्दिरों की संख्या - 05 क्षेत्र पर पहाड़ - नहीं ऐतिहासिकता - क्षेत्र पर दसवीं शताब्दी तक की मूर्तियाँ विद्यमान हैं। हजारों वर्ष पुराना सहस्रकूट चैत्यालय शिल्पकारी का उत्कृष्ट नमूना है। शांतिनाथबड़े बाबा की विशाल 18 फुट ऊँची प्रतिमा अतिशय युक्त है। कुन्थुनाथ, अरहनाथकी विशाल प्रतिमायें भी विराजित हैं। विशेष जानकारी। | : विकास की दृष्टि से क्षेत्र उपेक्षित एवं पिछड़ा हुआ है। आर्थिक सहायता की अत्यावश्यकता है। विशेष आयोजन - मेला प्रति वर्ष 05 फरवरी। नेत्र-शिविर, स्वास्थ्य - शिविर गत तीस वर्षों से लगाये जा रहे हैं। समीपवर्ती तीर्थक्षेत्र पपोराजी - 15 कि.मी., पवाजी - 70 कि.मी., देवगढ़जी - 70 कि.मी., सेरोनजी - 55 कि.मी., अहारजी - 30 कि.मी. आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस क्षेत्र के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस क्षेत्र पर गए है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें| 
  11. श्री वर्णी धर्मशाला मडावरा जिला-ललितपुर (उ.प्र.) आपका सहयोग : जय जिनेन्द्र बन्धुओं, यदि आपके पास इस धर्मशाला के सम्बन्ध में ऊपर दी हुई जानकारी के अतिरिक्त अन्य जानकारी है जैसे गूगल नक्षा एवं फोटो इत्यादि तो कृपया आप उसे नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें| यदि आप इस धर्मशाला में रुके है तो अपने अनुभव भी लिखें| ताकि सभी लाभ प्राप्त कर सकें|
  12.  
×
×
  • Create New...